Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jul 2023 · 1 min read

खुद से उम्मीद लगाओगे तो खुद को निखार पाओगे

खुद से उम्मीद लगाओगे तो खुद को निखार पाओगे
गर गैरों से कोई उम्मीद लगाओगे
तो खुद को नीचे पाओगे….

🌱अधूरा ज्ञान🌱

204 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कविता
कविता
Rambali Mishra
‘’ हमनें जो सरताज चुने है ,
‘’ हमनें जो सरताज चुने है ,
Vivek Mishra
लहर तो जीवन में होती हैं
लहर तो जीवन में होती हैं
Neeraj Agarwal
मेरी ज़िन्दगी का सबसे बड़ा इनाम हो तुम l
मेरी ज़िन्दगी का सबसे बड़ा इनाम हो तुम l
Ranjeet kumar patre
खुशनुमा – खुशनुमा सी लग रही है ज़मीं
खुशनुमा – खुशनुमा सी लग रही है ज़मीं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
"मोबाइल फोन"
Dr. Kishan tandon kranti
बुलंदियों पर पहुंचाएगा इकदिन मेरा हुनर मुझे,
बुलंदियों पर पहुंचाएगा इकदिन मेरा हुनर मुझे,
प्रदीप कुमार गुप्ता
सुरनदी_को_त्याग_पोखर_में_नहाने_जा_रहे_हैं......!!
सुरनदी_को_त्याग_पोखर_में_नहाने_जा_रहे_हैं......!!
संजीव शुक्ल 'सचिन'
गुज़ारिश आसमां से है
गुज़ारिश आसमां से है
Sangeeta Beniwal
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"कभी मेरा ज़िक्र छीड़े"
Lohit Tamta
तुम तो ख़ामोशियां
तुम तो ख़ामोशियां
Dr fauzia Naseem shad
अपनी गलती से कुछ नहीं सीखना
अपनी गलती से कुछ नहीं सीखना
Paras Nath Jha
चाहत
चाहत
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
आप सुनो तो तान छेड़ दूं
आप सुनो तो तान छेड़ दूं
Suryakant Dwivedi
शेष कुछ
शेष कुछ
Dr.Priya Soni Khare
तुमसे मैं एक बात कहूँ
तुमसे मैं एक बात कहूँ
gurudeenverma198
बारिश
बारिश
Mr.Aksharjeet
संविधान
संविधान
लक्ष्मी सिंह
#आज_की_विनती
#आज_की_विनती
*Author प्रणय प्रभात*
वेतन की चाहत लिए एक श्रमिक।
वेतन की चाहत लिए एक श्रमिक।
Rj Anand Prajapati
💞 रंगोत्सव की शुभकामनाएं 💞
💞 रंगोत्सव की शुभकामनाएं 💞
Dr Manju Saini
2767. *पूर्णिका*
2767. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
माँ को फिक्र बेटे की,
माँ को फिक्र बेटे की,
Harminder Kaur
निर्लज्ज चरित्र का स्वामी वो, सम्मान पर आँख उठा रहा।
निर्लज्ज चरित्र का स्वामी वो, सम्मान पर आँख उठा रहा।
Manisha Manjari
करतल पर सबका लिखा ,सब भविष्य या भूत (कुंडलिया)
करतल पर सबका लिखा ,सब भविष्य या भूत (कुंडलिया)
Ravi Prakash
मेरा लड्डू गोपाल
मेरा लड्डू गोपाल
MEENU
नारी शक्ति का सम्मान🙏🙏
नारी शक्ति का सम्मान🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
दोस्ती
दोस्ती
Monika Verma
मौसम तुझको देखते ,
मौसम तुझको देखते ,
sushil sarna
Loading...