Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Nov 27, 2016 · 1 min read

खामोश क्यूँ है तू,कुछ तो जवाब दे…

मुद्दतों के इंतज़ार का,मुझे कुछ तो खिताब दे.
खामोश क्यूँ है तू,कुछ तो जवाब दे ।

त्योहारों का क्या करूं??
गमोखुशी तो मेरी तुझसे है,
ला आज मेरे हर दर्द हर आंसू का हिसाब दे.
खामोश क्यूँ है तू,कुछ तो जवाब दे.

कागज पे अरमान बयां कर दिये मैंने,
इस मेहनत का मेरी,कुछ तो शबाब दे
खामोश क्यूँ है तू,कुछ तो जवाब दे ।

**##@@कपिल जैन@@##**

280 Views
You may also like:
हिन्दी साहित्य का फेसबुकिया काल
मनोज कर्ण
बाबा साहेब जन्मोत्सव
Mahender Singh Hans
✍️बुनियाद✍️
"अशांत" शेखर
पिता
pradeep nagarwal
क़ैद में 15 वर्षों तक पृथ्वीराज और चंदबरदाई जीवित थे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
Vishnu Prasad 'panchotiya'
बस एक ही भूख
DESH RAJ
FATHER IS REAL GOD
KAMAL THAKUR
गरीब लड़की का बाप है।
Taj Mohammad
"बीते दिनों से कुछ खास हुआ है"
Lohit Tamta
पिता हैं छाँव जैसे
अंकित शर्मा 'इषुप्रिय'
तुमको खुशी मिलती है।
Taj Mohammad
*पंडित ज्वाला प्रसाद मिश्र और आर्य समाज-सनातन धर्म का विवाद*
Ravi Prakash
पत्र का पत्रनामा
Manu Vashistha
उसकी मासूमियत
VINOD KUMAR CHAUHAN
*भक्त प्रहलाद और नरसिंह भगवान के अवतार की कथा*
Ravi Prakash
जून की दोपहर (कविता)
Kanchan Khanna
माँ — फ़ातिमा एक अनाथ बच्ची
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सुहावना मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
दिवस नहीं मनाये जाते हैं...!!!
Kanchan Khanna
💐योगं विना मुक्ति: नः💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
काँच के रिश्ते ( दोहा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
हो रही है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
बर्षा रानी जल्दी आओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हरियाली और बंजर
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
ख्वाब
Anamika Singh
✍️जिंदगी की सुबह✍️
"अशांत" शेखर
पिता श्रेष्ठ है इस दुनियां में जीवन देने वाला है
सतीश मिश्र "अचूक"
महका हम करेंगें।
Taj Mohammad
इंसान जीवन को अब ना जीता है।
Taj Mohammad
Loading...