Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Jan 2024 · 1 min read

ख़त्म हुआ जो

ख़त्म हुआ जो तमाशा तो सामने आया ।
कि हम किसी की ज़रूरतों में नहीं ।।
डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
4 Likes · 106 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
“Do not be afraid of your difficulties. Do not wish you coul
“Do not be afraid of your difficulties. Do not wish you coul
पूर्वार्थ
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मैं और दर्पण
मैं और दर्पण
Seema gupta,Alwar
अफसोस-कविता
अफसोस-कविता
Shyam Pandey
वो सपने, वो आरज़ूएं,
वो सपने, वो आरज़ूएं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
तूफान सी लहरें मेरे अंदर है बहुत
तूफान सी लहरें मेरे अंदर है बहुत
कवि दीपक बवेजा
नन्ही भिखारन!
नन्ही भिखारन!
कविता झा ‘गीत’
सेवा
सेवा
ओंकार मिश्र
इशारा नहीं होता
इशारा नहीं होता
Neelam Sharma
.
.
Ms.Ankit Halke jha
मजा आता है पीने में
मजा आता है पीने में
Basant Bhagawan Roy
*एमआरपी (कहानी)*
*एमआरपी (कहानी)*
Ravi Prakash
खुशी ( Happiness)
खुशी ( Happiness)
Ashu Sharma
गीता में लिखा है...
गीता में लिखा है...
Omparkash Choudhary
है प्यार तो जता दो
है प्यार तो जता दो
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मेरा न कृष्ण है न मेरा कोई राम है
मेरा न कृष्ण है न मेरा कोई राम है
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
पहले देखें, सोचें,पढ़ें और मनन करें,
पहले देखें, सोचें,पढ़ें और मनन करें,
DrLakshman Jha Parimal
गैरों से जायदा इंसान ,
गैरों से जायदा इंसान ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
तू तो सब समझता है ऐ मेरे मौला
तू तो सब समझता है ऐ मेरे मौला
SHAMA PARVEEN
बंधन यह अनुराग का
बंधन यह अनुराग का
Om Prakash Nautiyal
हिंदी दिवस पर एक आलेख
हिंदी दिवस पर एक आलेख
कवि रमेशराज
* सामने आ गये *
* सामने आ गये *
surenderpal vaidya
हीर मात्रिक छंद
हीर मात्रिक छंद
Subhash Singhai
ज़िंदगी मो'तबर
ज़िंदगी मो'तबर
Dr fauzia Naseem shad
संघर्ष....... जीवन
संघर्ष....... जीवन
Neeraj Agarwal
भाषाओं का ज्ञान भले ही न हो,
भाषाओं का ज्ञान भले ही न हो,
Vishal babu (vishu)
जिंदगी बंद दरवाजा की तरह है
जिंदगी बंद दरवाजा की तरह है
Harminder Kaur
ज़िंदगी का फ़लसफ़ा
ज़िंदगी का फ़लसफ़ा
Dr. Rajeev Jain
हिंदी दोहा बिषय- बेटी
हिंदी दोहा बिषय- बेटी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
■ और क्या चाहिए...?
■ और क्या चाहिए...?
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...