Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Jul 2016 · 1 min read

खबर कर दो…..!

चंद लम्हात ही सही,मुझे नज़र कर दो,
तुमसे मिलने ही आया हूँ,खबर कर दो।

कई फरियादें उठती है,बिछड़ जाने की,
चले आओ किे दुआएँ, बेअसर कर दो।

कहता नहीं के नाम करदो ज़िन्दगी अपनी,
एक दिन न सही, बस एक पहर कर दो।

जलवों की बिजली से नुक्सान,सिर्फ मेरा हो,
बाकी सब से कह दो,खाली ये शहर कर दो।

आ जाओगे तो,इस दिल को तस्कीन होगा,
चाहो तो खाली,बोतलों का ज़हर कर दो।

गर आ नहीं पाओ तो,बस वादा ही देदो,
आज, खत्म ये इम्तेहाने सबर कर दो ।

सौरभ पुरोहित…..☺

4 Comments · 210 Views
You may also like:
*..... और मैं पिताजी को खुश देखने के लिए सुंदर...
Ravi Prakash
अपने पल्ले कुछ नहीं पड़ता
Shekhar Chandra Mitra
बुद्ध पूर्णिमा पर मेरे मन के उदगार
Ram Krishan Rastogi
यह कैसा तुमने जादू मुझपे किया
gurudeenverma198
वीर
लक्ष्मी सिंह
*परम चैतन्य*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बरसात और बाढ़
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
क्यों बीते कल की स्याही, आज के पन्नों पर छीटें...
Manisha Manjari
मांँ की लालटेन
श्री रमण 'श्रीपद्'
ऋषि पंचमी कब है? पूजा करने की विधि एवं मुहूर्त...
आचार्य श्रीराम पाण्डेय
जिन्दगी एक तमन्ना है
Buddha Prakash
तुमको पाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
हमारी धरती
Anamika Singh
ताबीर तुम्हारे हर ख़्वाब की।
Taj Mohammad
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
✍️दम-भर ✍️
'अशांत' शेखर
मेरे माता-पिता
Shyam Sundar Subramanian
किसकी पीर सुने ? (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
प्रेम में त्याग
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
$ग़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
■ सामयिक चिंतन
*प्रणय प्रभात*
लोकदेवता :दिहबार
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
हे परम पिता परमेश्वर, जग को बनाने वाले
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
वह मौत भी बड़ा सुहाना होगा
Aditya Raj
उठो युवा तुम उठो ऐसे/Uthao youa tum uthao aise
Shivraj Anand
✍️नीली जर्सी वालों ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
"मेरी कहानी"
Lohit Tamta
हमारा घर छोडकर जाना
Dalveer Singh
# बोरे बासी दिवस /मजदूर दिवस....
Chinta netam " मन "
तपिसों में पत्थर
Dr. Sunita Singh
Loading...