Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings
Sep 23, 2022 · 1 min read

क्या होता है पिता

क्या होता है पिता, यह अहसास होता है तब।
बनता है जब कोई पिता, अनाथ कोई होता है जब ।।
क्या होता है पिता——————।।

रहकर मुफलिसी में पिता, बच्चों को भूखे नहीं रखता।
छुपा लेता है अपने दर्द और आँसू, खुश बच्चों को वह रखता।।
भूलाकर बच्चों की गलती ,पिता ही देता है प्यार।
बच्चों के सुख के लिए , पिता झुका भी देता है नभ ।।
क्या होता है पिता ————————।।

देख नहीं सकता पिता, बहते आँसू बच्चों के ।
पिता ही करता है साकार, सपने अपने बच्चों के।।
तड़प उठता है पिता , देखकर बच्चों पे मुसीबत।
ऐसे में हिम्मत बच्चों को , पिता ही देता है तब।।
क्या होता है पिता——————–।।

चमन बच्चों को मानकर , रखता है खिलते हुए।।
सितारें जीवन के मानकर, रखता है चमकते हुए।
इतराता है सबसे ज्यादा, पिता ही अपने बच्चों पर।
पिता ही है संकटमोचक, पिता ही है बच्चों का रब ।।
क्या होता है पिता———————-।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)
मोबाईल नम्बर- 9571070847

20 Views
You may also like:
पिता का दर्द
Nitu Sah
आपको याद भी तो करते हैं
Dr fauzia Naseem shad
"आम की महिमा"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
अधूरी बातें
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पितृ वंदना
मनोज कर्ण
मुझे आज भी तुमसे प्यार है
Ram Krishan Rastogi
If we could be together again...
Abhineet Mittal
बेटी को जन्मदिन की बधाई
लक्ष्मी सिंह
पिता
Shailendra Aseem
सोच तेरी हो
Dr fauzia Naseem shad
✍️One liner quotes✍️
Vaishnavi Gupta
कैसा हो सरपंच हमारा / (समसामयिक गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️प्यारी बिटिया ✍️
Vaishnavi Gupta
✍️अकेले रह गये ✍️
Vaishnavi Gupta
पिता हैं धरती का भगवान।
Vindhya Prakash Mishra
"मेरे पिता"
vikkychandel90 विक्की चंदेल (साहिब)
दिलों से नफ़रतें सारी
Dr fauzia Naseem shad
फेसबुक की दुनिया
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ओ मेरे साथी ! देखो
Anamika Singh
ऐसे थे मेरे पिता
Minal Aggarwal
✍️रास्ता मंज़िल का✍️
Vaishnavi Gupta
दर्द लफ़्ज़ों में लिख के रोये हैं
Dr fauzia Naseem shad
आंखों में कोई
Dr fauzia Naseem shad
मेरी अभिलाषा
Anamika Singh
मेरा गुरूर है पिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
जाने कैसा दिन लेकर यह आया है परिवर्तन
आकाश महेशपुरी
गुरुजी!
Vishnu Prasad 'panchotiya'
जिन्दगी का सफर
Anamika Singh
पापा को मैं पास में पाऊँ
Dr. Pratibha Mahi
पिता अब बुढाने लगे है
n_upadhye
Loading...