Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Mar 2023 · 1 min read

क्या कहे हम तुमको

अच्छा दिया है तोहफा, तुमने यह हमको।
क्या कहे हम तुमको, क्या कहे हम तुमको।।
अच्छा दिया है तोहफा———————–।।

उम्मीद ऐसी तुमसे, की नहीं थी हमने।
सींचा था तेरे चमन को, प्यार से हमने।।
हो गए अब तुम किसी के, छोड़कर हमको।
क्या कहे हम तुमको, क्या कहे हम तुमको।।
अच्छा दिया है तोहफा———————-।।

हमने छुपाकर ऑंसू हमारे, दी खुशी तुमको हमेशा।
तुम पर लुटाकर खुशियां ,रखा हसीं तुमको हमेशा।।
वाह क्या सजाई है महफ़िल, तुमने रुलाकर हमको।
क्या कहे हम तुमको, क्या कहे हम तुमको।।
अच्छा दिया है तोहफा—————————।।

मांगा था क्या हमने तुमसे, सिवा दिल से प्यार के।
प्यासे नहीं थे तेरी दौलत के,प्यासे थे हम प्यार के।।
कर दिया खूं तुमने दिल का, मानकै खिलौना हमको।
क्या कहे हम तुमको, क्या कहे हम तुमको।।
अच्छा दिया है तोहफा————————–।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला-बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 161 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मत बांटो इंसान को
मत बांटो इंसान को
विमला महरिया मौज
कुंडलिया छंद की विकास यात्रा
कुंडलिया छंद की विकास यात्रा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
साल को बीतता देखना।
साल को बीतता देखना।
Brijpal Singh
मैं दौड़ता रहा तमाम उम्र
मैं दौड़ता रहा तमाम उम्र
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
उम्र अपना
उम्र अपना
Dr fauzia Naseem shad
जिंदगी का सफर है सुहाना, हर पल को जीते रहना। चाहे रिश्ते हो
जिंदगी का सफर है सुहाना, हर पल को जीते रहना। चाहे रिश्ते हो
पूर्वार्थ
चाँद पूछेगा तो  जवाब  क्या  देंगे ।
चाँद पूछेगा तो जवाब क्या देंगे ।
sushil sarna
।। सुविचार ।।
।। सुविचार ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
ख्याल........
ख्याल........
Naushaba Suriya
स्त्री मन
स्त्री मन
Surinder blackpen
अब क्या बताएँ छूटे हैं कितने कहाँ पर हम ग़ायब हुए हैं खुद ही
अब क्या बताएँ छूटे हैं कितने कहाँ पर हम ग़ायब हुए हैं खुद ही
Neelam Sharma
💐प्रेम कौतुक-467💐
💐प्रेम कौतुक-467💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इश्क की रूह
इश्क की रूह
आर एस आघात
*पाकिस्तान में रह गए हिंदुओं की पीड़ा( तीन* *मुक्तक* )
*पाकिस्तान में रह गए हिंदुओं की पीड़ा( तीन* *मुक्तक* )
Ravi Prakash
2379.पूर्णिका
2379.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*हो न लोकतंत्र की हार*
*हो न लोकतंत्र की हार*
Poonam Matia
ना गौर कर इन तकलीफो पर
ना गौर कर इन तकलीफो पर
TARAN VERMA
दो शे'र
दो शे'र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
चूल्हे की रोटी
चूल्हे की रोटी
प्रीतम श्रावस्तवी
शराब मुझको पिलाकर तुम,बहकाना चाहते हो
शराब मुझको पिलाकर तुम,बहकाना चाहते हो
gurudeenverma198
ख़्बाब आंखों में बंद कर लेते - संदीप ठाकुर
ख़्बाब आंखों में बंद कर लेते - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
👍👍👍
👍👍👍
*Author प्रणय प्रभात*
"समय क़िस्मत कभी भगवान को तुम दोष मत देना
आर.एस. 'प्रीतम'
¡¡¡●टीस●¡¡¡
¡¡¡●टीस●¡¡¡
Dr Manju Saini
बड़ा भाई बोल रहा हूं।
बड़ा भाई बोल रहा हूं।
SATPAL CHAUHAN
I know people around me a very much jealous to me but I am h
I know people around me a very much jealous to me but I am h
Ankita Patel
"आँखें तो"
Dr. Kishan tandon kranti
........,
........,
शेखर सिंह
शौक करने की उम्र मे
शौक करने की उम्र मे
KAJAL NAGAR
भीम षोडशी
भीम षोडशी
SHAILESH MOHAN
Loading...