Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Mar 2024 · 1 min read

कौन गया किसको पता ,

कौन गया किसको पता ,
यह जग बहता नीर ।
कुछ पल चलते साथ सब,
फिर बन जाते तस्वीर ।।

सुशील सरना / 13-3-24

71 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
2323.पूर्णिका
2323.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
सब कुछ पा लेने की इच्छा ही तृष्णा है और कृपापात्र प्राणी ईश्
सब कुछ पा लेने की इच्छा ही तृष्णा है और कृपापात्र प्राणी ईश्
Sanjay ' शून्य'
ईज्जत
ईज्जत
Rituraj shivem verma
अंतरात्मा की आवाज
अंतरात्मा की आवाज
Dr. Pradeep Kumar Sharma
* माई गंगा *
* माई गंगा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तुम ख्वाब हो।
तुम ख्वाब हो।
Taj Mohammad
तमन्ना थी मैं कोई कहानी बन जाऊॅ॑
तमन्ना थी मैं कोई कहानी बन जाऊॅ॑
VINOD CHAUHAN
कभी
कभी
हिमांशु Kulshrestha
अगर मैं कहूँ
अगर मैं कहूँ
Shweta Soni
घनाक्षरी छंद
घनाक्षरी छंद
Rajesh vyas
"उम्र जब अल्हड़ थी तब
*Author प्रणय प्रभात*
कोहली किंग
कोहली किंग
पूर्वार्थ
नशा
नशा
Ram Krishan Rastogi
दोस्ती....
दोस्ती....
Harminder Kaur
दुखांत जीवन की कहानी में सुखांत तलाशना बेमानी है
दुखांत जीवन की कहानी में सुखांत तलाशना बेमानी है
Guru Mishra
चंद अशआर
चंद अशआर
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
हाय गरीबी जुल्म न कर
हाय गरीबी जुल्म न कर
कृष्णकांत गुर्जर
आँखों से काजल चुरा,
आँखों से काजल चुरा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
दुनियां में सब नौकर हैं,
दुनियां में सब नौकर हैं,
Anamika Tiwari 'annpurna '
कह्र ....
कह्र ....
sushil sarna
उन कचोटती यादों का क्या
उन कचोटती यादों का क्या
Atul "Krishn"
जरुरी है बहुत जिंदगी में इश्क मगर,
जरुरी है बहुत जिंदगी में इश्क मगर,
शेखर सिंह
कुछ तो मेरी वफ़ा का
कुछ तो मेरी वफ़ा का
Dr fauzia Naseem shad
गुरुजन को अर्पण
गुरुजन को अर्पण
Rajni kapoor
रखा जाता तो खुद ही रख लेते...
रखा जाता तो खुद ही रख लेते...
कवि दीपक बवेजा
फितरत अमिट जन एक गहना
फितरत अमिट जन एक गहना
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
लोकतंत्र तभी तक जिंदा है जब तक आम जनता की आवाज़ जिंदा है जिस
लोकतंत्र तभी तक जिंदा है जब तक आम जनता की आवाज़ जिंदा है जिस
Rj Anand Prajapati
इन तूफानों का डर हमको कुछ भी नहीं
इन तूफानों का डर हमको कुछ भी नहीं
gurudeenverma198
मरने वालों का तो करते है सब ही खयाल
मरने वालों का तो करते है सब ही खयाल
shabina. Naaz
Loading...