Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 May 2023 · 1 min read

कोरोना और प्रदूषण

कोरोना और प्रदूषण”

कोरोना का एक लाभ हुआ पर्यावरण तो सुधर गया,
प्रदूषण की मार से अब कुछ वातावरण भी उबर गया ।

करोड़ों के बजट से नहीं हुई वो नदियां आज निखर गई,
लॉक डाउन के इसी दौर में आबो-हवा भी सुधर गई ।

सुधार को कायम रखने को प्रयास हमे अब करना है,
वातावरण ना बिगड़े फिर से संकल्प हमें ये करना है।

मानसिक प्रदूषण फैल रहा इस पर भी अब रोक लगे,
ये ख़तरे का लेवल पार करेगा यदि हम वक्त रहते नहीं जगे।

पर्यावरण की तरह ही अब मानसिक प्रदूषण में सुधार आये,
चाह है ऐसे वायरस की जो मानसिक प्रदूषण को खा जाए।

174 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Khajan Singh Nain
View all
You may also like:
पीने -पिलाने की आदत तो डालो
पीने -पिलाने की आदत तो डालो
सिद्धार्थ गोरखपुरी
*उड़ीं तब भी पतंगें जब, हवा का रुख नहीं मिलता (मुक्तक)*
*उड़ीं तब भी पतंगें जब, हवा का रुख नहीं मिलता (मुक्तक)*
Ravi Prakash
प्राप्त हो जिस रूप में
प्राप्त हो जिस रूप में
Dr fauzia Naseem shad
ऊंट है नाम मेरा
ऊंट है नाम मेरा
Satish Srijan
मुहब्बत नहीं है आज
मुहब्बत नहीं है आज
Tariq Azeem Tanha
काव्य
काव्य
साहित्य गौरव
जन्नत
जन्नत
जय लगन कुमार हैप्पी
ख्वाब जब टूटने ही हैं तो हम उन्हें बुनते क्यों हैं
ख्वाब जब टूटने ही हैं तो हम उन्हें बुनते क्यों हैं
PRADYUMNA AROTHIYA
"पूर्वाग्रह"
*प्रणय प्रभात*
मां है अमर कहानी
मां है अमर कहानी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"कलम की अभिलाषा"
Yogendra Chaturwedi
विश्वपर्यावरण दिवस पर -दोहे
विश्वपर्यावरण दिवस पर -दोहे
डॉक्टर रागिनी
खुद की एक पहचान बनाओ
खुद की एक पहचान बनाओ
Vandna Thakur
तुम्हारा एक दिन..…........एक सोच
तुम्हारा एक दिन..…........एक सोच
Neeraj Agarwal
राजनीतिक यात्रा फैशन में है, इमेज बिल्डिंग और फाइव स्टार सुव
राजनीतिक यात्रा फैशन में है, इमेज बिल्डिंग और फाइव स्टार सुव
Sanjay ' शून्य'
वंशवादी जहर फैला है हवा में
वंशवादी जहर फैला है हवा में
महेश चन्द्र त्रिपाठी
बेवजह कदमों को चलाए है।
बेवजह कदमों को चलाए है।
Taj Mohammad
2578.पूर्णिका
2578.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*हैं जिनके पास अपने*,
*हैं जिनके पास अपने*,
Rituraj shivem verma
*शर्म-हया*
*शर्म-हया*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जल संरक्षण
जल संरक्षण
Preeti Karn
आकाश भर उजाला,मुट्ठी भरे सितारे
आकाश भर उजाला,मुट्ठी भरे सितारे
Shweta Soni
अच्छे नहीं है लोग ऐसे जो
अच्छे नहीं है लोग ऐसे जो
gurudeenverma198
वो एक शाम
वो एक शाम
हिमांशु Kulshrestha
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मेरी बेटी बड़ी हो गई,
मेरी बेटी बड़ी हो गई,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
आशीर्वाद
आशीर्वाद
Dr Parveen Thakur
मेरा केवि मेरा गर्व 🇳🇪 .
मेरा केवि मेरा गर्व 🇳🇪 .
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"तब पता चलेगा"
Dr. Kishan tandon kranti
देखिए मायका चाहे अमीर हो या गरीब
देखिए मायका चाहे अमीर हो या गरीब
शेखर सिंह
Loading...