Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Feb 2023 · 1 min read

💐अज्ञात के प्रति-130💐

कोई है जो मुझसे बद-मंज़र निकाले,
इस दिल में चुभे हुए खंज़र निकाले।

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
65 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
दर्द भरा गीत यहाँ गाया जा सकता है Vinit Singh Shayar
दर्द भरा गीत यहाँ गाया जा सकता है Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
*कविता कम-बातें अधिक (दोहे)*
*कविता कम-बातें अधिक (दोहे)*
Ravi Prakash
क्या ढूढे मनुवा इस बहते नीर में
क्या ढूढे मनुवा इस बहते नीर में
rekha mohan
मस्ती का त्यौहार है,  खिली बसंत बहार
मस्ती का त्यौहार है, खिली बसंत बहार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आशिकी
आशिकी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सचमुच सपेरा है
सचमुच सपेरा है
Dr. Sunita Singh
"हरी सब्जी या सुखी सब्जी"
Dr Meenu Poonia
सुहाग रात
सुहाग रात
Ram Krishan Rastogi
जिन्दगी के हर सफे को ...
जिन्दगी के हर सफे को ...
Bodhisatva kastooriya
बच्चों के पिता
बच्चों के पिता
Dr. Kishan Karigar
"दुर्भिक्ष"
Dr. Kishan tandon kranti
देश प्रेम
देश प्रेम
डॉ प्रवीण ठाकुर
धन बल पर्याय
धन बल पर्याय
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
कल कल करती बेकल नदियां
कल कल करती बेकल नदियां
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
इश्क़ और इंक़लाब
इश्क़ और इंक़लाब
Shekhar Chandra Mitra
जिंदगी का ये,गुणा-भाग लगा लो ll
जिंदगी का ये,गुणा-भाग लगा लो ll
गुप्तरत्न
मर्द का दर्द
मर्द का दर्द
Anil chobisa
उड़ते हुए आँचल से दिखती हुई तेरी कमर को छुपाना चाहता हूं
उड़ते हुए आँचल से दिखती हुई तेरी कमर को छुपाना चाहता हूं
Vishal babu (vishu)
परिवर्तन विकास बेशुमार
परिवर्तन विकास बेशुमार
Tarun Prasad
दिल से मुझको सदा दीजिए।
दिल से मुझको सदा दीजिए।
सत्य कुमार प्रेमी
रहता हूँ  ग़ाफ़िल, मख़लूक़ ए ख़ुदा से वफ़ा चाहता हूँ
रहता हूँ ग़ाफ़िल, मख़लूक़ ए ख़ुदा से वफ़ा चाहता हूँ
Mohd Anas
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
राम दीन की शादी
राम दीन की शादी
Satish Srijan
माँ (ममता की अनुवाद रही)
माँ (ममता की अनुवाद रही)
Vijay kumar Pandey
हर कसौटी पर उसकी मैं खरा उतर जाऊं.........
हर कसौटी पर उसकी मैं खरा उतर जाऊं.........
कवि दीपक बवेजा
💐प्रेम कौतुक-393💐
💐प्रेम कौतुक-393💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
#कुदरत_केरंग
#कुदरत_केरंग
*Author प्रणय प्रभात*
पेड़ नहीं, बुराइयां जलाएं
पेड़ नहीं, बुराइयां जलाएं
अरशद रसूल /Arshad Rasool
कुछ तो अच्छा छोड़ कर जाओ आप
कुछ तो अच्छा छोड़ कर जाओ आप
Shyam Pandey
हां मैं पारस हूं, तुम्हें कंचन बनाऊंगी
हां मैं पारस हूं, तुम्हें कंचन बनाऊंगी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...