Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Nov 2016 · 1 min read

कोई लौटा दे मेरे वह हिन्‍दुस्‍तान

कोई लौटा दे मेरे वह हिन्‍दुस्‍तान,
जिसमें थी बांग्‍लादेश और पाकिस्‍तान।

पर नहीं हो अंग्रेजों का शासन,
कायम हो विद्वानों का शासन।

न हो कोई दैत्‍य और दुष्‍ट,
न हो जन-जन को कोई कष्‍ट।

न बंटे में बिना मेहनत के खैरात,
न मिले बिन मेहनत के सौगात।

राम राज्‍य का शासन हो और न हो कोई शैतान,
कोई ला दे मेरे सपनों का वह हिन्‍दुस्‍तान।

………………. मनहरण

Language: Hindi
248 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
फूल फूल और फूल
फूल फूल और फूल
SATPAL CHAUHAN
साल जो बदला है
साल जो बदला है
Dr fauzia Naseem shad
मिलन की वेला
मिलन की वेला
Dr.Pratibha Prakash
💐💐ज्ञानस्य अभिमानं नरकेषु प्रवेशक:💐💐
💐💐ज्ञानस्य अभिमानं नरकेषु प्रवेशक:💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
छठ परब।
छठ परब।
Acharya Rama Nand Mandal
#एक_और_बरसी
#एक_और_बरसी
*Author प्रणय प्रभात*
चुप्पी और गुस्से का वर्णभेद / MUSAFIR BAITHA
चुप्पी और गुस्से का वर्णभेद / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
नींद कि नजर
नींद कि नजर
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
2816. *पूर्णिका*
2816. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
शेष न बचा
शेष न बचा
Er. Sanjay Shrivastava
भूखे भेड़िये हैं वो,
भूखे भेड़िये हैं वो,
Maroof aalam
"चलना और रुकना"
Dr. Kishan tandon kranti
चलो सत्य की राह में,
चलो सत्य की राह में,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नाम में सिंह लगाने से कोई आदमी सिंह नहीं बन सकता बल्कि उसका
नाम में सिंह लगाने से कोई आदमी सिंह नहीं बन सकता बल्कि उसका
Dr. Man Mohan Krishna
13) “धूम्रपान-तम्बाकू निषेध”
13) “धूम्रपान-तम्बाकू निषेध”
Sapna Arora
नववर्ष नवशुभकामनाएं
नववर्ष नवशुभकामनाएं
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
और ज़रा भी नहीं सोचते हम
और ज़रा भी नहीं सोचते हम
Surinder blackpen
उम्र के इस पडाव
उम्र के इस पडाव
Bodhisatva kastooriya
मॉडर्न किसान
मॉडर्न किसान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
अकेली औरत
अकेली औरत
Shekhar Chandra Mitra
सोशलमीडिया की दोस्ती
सोशलमीडिया की दोस्ती
लक्ष्मी सिंह
Alahda tu bhi nhi mujhse,
Alahda tu bhi nhi mujhse,
Sakshi Tripathi
सृष्टि के रहस्य सादगी में बसा करते है, और आडंबरों फंस कर, हम इस रूह को फ़ना करते हैं।
सृष्टि के रहस्य सादगी में बसा करते है, और आडंबरों फंस कर, हम इस रूह को फ़ना करते हैं।
Manisha Manjari
आवेदन-पत्र (हास्य व्यंग्य)
आवेदन-पत्र (हास्य व्यंग्य)
Ravi Prakash
मुझको उनसे क्या मतलब है
मुझको उनसे क्या मतलब है
gurudeenverma198
दोहे-*
दोहे-*
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
दीदार
दीदार
Vandna thakur
टूटा हूँ इतना कि जुड़ने का मन नही करता,
टूटा हूँ इतना कि जुड़ने का मन नही करता,
Vishal babu (vishu)
ए'लान - ए - जंग
ए'लान - ए - जंग
Shyam Sundar Subramanian
हे सर्दी रानी कब आएगी तू,
हे सर्दी रानी कब आएगी तू,
ओनिका सेतिया 'अनु '
Loading...