Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jan 2024 · 1 min read

केही कथा/इतिहास ‘Pen’ ले र केही ‘Pain’ ले लेखिएको पाइन्छ।’Pe

केही कथा/इतिहास ‘Pen’ ले र केही ‘Pain’ ले लेखिएको पाइन्छ।’Pen’ ले लेखिएको कथा/इतिहास सम्झौताप्रस्त नेतृत्वले आफू अनुकूल प्रयोग र व्याख्या गर्दै त्यसलाई आफ्नै हातले रातो मसी लगाउँदै ‘गलत’ ठहराउन सक्छन् । यसका ज्वलन्त साक्षी विगतका केही सम्झौताका दस्तावेजहरू हुन्। तर, ‘Pain’ अर्थात् शहादत, जनविद्रोह, बलिदान, चट्टानी अडान, जनसंघर्ष र सक्षम नेतृत्वका कारण लेखिएको कथा/इतिहास अजम्बरी हुन्छ। समावेशिता, पहिचान, समानुपातिक प्रतिनिधित्व, आरक्षण आदि त्यसको साक्षात प्रमाणहरू हुन् ।

151 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
View all
You may also like:
किस पथ पर उसको जाना था
किस पथ पर उसको जाना था
Mamta Rani
चाहिए
चाहिए
Punam Pande
उम्र अपना
उम्र अपना
Dr fauzia Naseem shad
Kisne kaha Maut sirf ek baar aati h
Kisne kaha Maut sirf ek baar aati h
Kumar lalit
बिन मांगे ही खुदा ने भरपूर दिया है
बिन मांगे ही खुदा ने भरपूर दिया है
हरवंश हृदय
चांद सितारे टांके हमने देश की तस्वीर में।
चांद सितारे टांके हमने देश की तस्वीर में।
सत्य कुमार प्रेमी
हदें
हदें
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
*भरत चले प्रभु राम मनाने (कुछ चौपाइयॉं)*
*भरत चले प्रभु राम मनाने (कुछ चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
बुद्ध के बदले युद्ध
बुद्ध के बदले युद्ध
Shekhar Chandra Mitra
" मुशाफिर हूँ "
Pushpraj Anant
"संयोग"
Dr. Kishan tandon kranti
किसी भी सफल और असफल व्यक्ति में मुख्य अन्तर ज्ञान और ताकत का
किसी भी सफल और असफल व्यक्ति में मुख्य अन्तर ज्ञान और ताकत का
Paras Nath Jha
तारीफ किसकी करूं किसको बुरा कह दूं
तारीफ किसकी करूं किसको बुरा कह दूं
कवि दीपक बवेजा
25)”हिन्दी भाषा”
25)”हिन्दी भाषा”
Sapna Arora
लोग आसमां की तरफ देखते हैं
लोग आसमां की तरफ देखते हैं
VINOD CHAUHAN
मेरी बच्ची - दीपक नीलपदम्
मेरी बच्ची - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
खामोश आवाज़
खामोश आवाज़
Dr. Seema Varma
तन्हाई
तन्हाई
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
करती रही बातें
करती रही बातें
sushil sarna
2531.पूर्णिका
2531.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मेरे प्रिय पवनपुत्र हनुमान
मेरे प्रिय पवनपुत्र हनुमान
Anamika Tiwari 'annpurna '
प्राण प्रतीस्था..........
प्राण प्रतीस्था..........
Rituraj shivem verma
प्रभु राम मेरे सपने मे आये संग मे सीता माँ को लाये
प्रभु राम मेरे सपने मे आये संग मे सीता माँ को लाये
Satyaveer vaishnav
यादें...
यादें...
Harminder Kaur
जय जगदम्बे जय माँ काली
जय जगदम्बे जय माँ काली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बेटी हूं या भूल
बेटी हूं या भूल
Lovi Mishra
काश
काश
लक्ष्मी सिंह
“यादों के झरोखे से”
“यादों के झरोखे से”
पंकज कुमार कर्ण
हम शिक्षक
हम शिक्षक
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
दृढ़
दृढ़
Sanjay ' शून्य'
Loading...