Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jan 2023 · 1 min read

कुछ कहा मत करो

अब ग़मे हिज़्र में तुम जला मत करो
बेवफा से कभी कुछ कहा मत करो

जब खबर है ज़ुदायी वफ़ा में लिखी
इश्क़ करने की हरगिज़ ख़ता मत करो

और भी हैं यहाँ राह में मंजिलें
ताक में सिर्फ उसकी रहा मत करो

जो हमेशा ही दिल को रुला देते हैं
उन खतों को कभी भी पढ़ा मत करो

गम उतर आएगा झील- सी आँख में
गीत गम के भी यारो सुना मत करो

ये ‘सुधा’ रात–दिन अश्क टपका के यूँ
अपने हाथों ही अपनी कज़ा मत करो

डा. सुनीता सिंह ‘सुधा’
3/1/2023

Language: Hindi
192 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अब हम बहुत दूर …
अब हम बहुत दूर …
DrLakshman Jha Parimal
सत्य की खोज
सत्य की खोज
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
■ एक_और_बरसी...
■ एक_और_बरसी...
*Author प्रणय प्रभात*
अवसर
अवसर
Neeraj Agarwal
जी लगाकर ही सदा
जी लगाकर ही सदा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
किसी से दोस्ती ठोक–बजा कर किया करो, नहीं तो, यह बालू की भीत साबित
किसी से दोस्ती ठोक–बजा कर किया करो, नहीं तो, यह बालू की भीत साबित
Dr MusafiR BaithA
हर रोज़
हर रोज़
Dr fauzia Naseem shad
रेणुका और जमदग्नि घर,
रेणुका और जमदग्नि घर,
Satish Srijan
हमारा देश भारत
हमारा देश भारत
surenderpal vaidya
शहर बसते गए,,,
शहर बसते गए,,,
पूर्वार्थ
रविदासाय विद् महे, काशी बासाय धी महि।
रविदासाय विद् महे, काशी बासाय धी महि।
दुष्यन्त 'बाबा'
*पहचान* – अहोभाग्य
*पहचान* – अहोभाग्य
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मन की परतों में छुपे ,
मन की परतों में छुपे ,
sushil sarna
हवाओं के भरोसे नहीं उड़ना तुम कभी,
हवाओं के भरोसे नहीं उड़ना तुम कभी,
Neelam Sharma
हाल मियां।
हाल मियां।
Acharya Rama Nand Mandal
अगर दिल में प्रीत तो भगवान मिल जाए।
अगर दिल में प्रीत तो भगवान मिल जाए।
Priya princess panwar
*जाना सबके भाग्य में, कहॉं अयोध्या धाम (कुंडलिया)*
*जाना सबके भाग्य में, कहॉं अयोध्या धाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
वो सुहाने दिन
वो सुहाने दिन
Aman Sinha
चुनाव चालीसा
चुनाव चालीसा
विजय कुमार अग्रवाल
सीख
सीख
Dr.Pratibha Prakash
फिदरत
फिदरत
Swami Ganganiya
यहां कश्मीर है केदार है गंगा की माया है।
यहां कश्मीर है केदार है गंगा की माया है।
सत्य कुमार प्रेमी
पनघट और पगडंडी
पनघट और पगडंडी
Punam Pande
माँ भारती की पुकार
माँ भारती की पुकार
लक्ष्मी सिंह
वायदे के बाद भी
वायदे के बाद भी
Atul "Krishn"
प्रेम
प्रेम
Bodhisatva kastooriya
असमान शिक्षा केंद्र
असमान शिक्षा केंद्र
Sanjay ' शून्य'
ग़ज़ल/नज़्म - उसके सारे जज़्बात मद्देनजर रखे
ग़ज़ल/नज़्म - उसके सारे जज़्बात मद्देनजर रखे
अनिल कुमार
रक्तदान
रक्तदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जाने कहाँ से उड़ती-उड़ती चिड़िया आ बैठी
जाने कहाँ से उड़ती-उड़ती चिड़िया आ बैठी
Shweta Soni
Loading...