Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jul 12, 2022 · 1 min read

किस क़दर।

तुझको तावीज़ बना कर मैं गले में पहनता हूं।
देख ज़रा किस क़दर मैं तुझसे इश्क करता हूं।।

✍️✍️ ताज मोहम्मद ✍️✍️

3 Likes · 4 Comments · 51 Views
You may also like:
हक़ीक़त न पूछिए
Dr fauzia Naseem shad
निशां बाकी हैं।
Taj Mohammad
मूक प्रेम
Rashmi Sanjay
✍️✍️जरी ही...!✍️✍️
'अशांत' शेखर
उसे चाहना
Nitu Sah
कृष्ण पक्ष// गीत
Shiva Awasthi
करुणा के बादल...
डॉ.सीमा अग्रवाल
क्यों कहाँ चल दिये
gurudeenverma198
ख्वाहिश है।
Taj Mohammad
विन्यास
DR ARUN KUMAR SHASTRI
नर्सिंग दिवस विशेष
हरीश सुवासिया
✍️रिश्तेदार.. ✍️
Vaishnavi Gupta
मेरा कृष्णा
Rakesh Bahanwal
Green Trees
Buddha Prakash
पाँव में छाले पड़े हैं....
डॉ.सीमा अग्रवाल
मां ‌धरती
AMRESH KUMAR VERMA
आंसूओं की नमी
Dr fauzia Naseem shad
महापंडित ठाकुर टीकाराम (18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित)
श्रीहर्ष आचार्य
छत्रपति शिवजी महाराज के 392 वें जन्मदिवस के सुअवसर पर...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नित हारती सरलता है।
Saraswati Bajpai
तेरी जान।
Taj Mohammad
प्रेरक संस्मरण
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
💐💐सत्संगस्य महत्वम्💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बदल कर टोपियां अपनी, कहीं भी पहुंच जाते हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेरे दिल के आसमां पर
Dr fauzia Naseem shad
*हम आजाद होकर रहेंगे (कहानी)*
Ravi Prakash
✍️"बा" ची व्यथा✍️।
'अशांत' शेखर
✍️'गंगा बहती है'✍️
'अशांत' शेखर
की बात
AJAY PRASAD
संसर्ग मुझमें
Varun Singh Gautam
Loading...