Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Mar 2024 · 1 min read

किसी भी चीज़ की आशा में गवाँ मत आज को देना

किसी भी चीज़ की आशा में गँवा मत आज को देना
मुहब्बत साज़ हर आदत लम्हा अंदाज़ को देना

आर. एस. ‘प्रीतम’

Language: Hindi
43 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from आर.एस. 'प्रीतम'
View all
You may also like:
कोई मरहम
कोई मरहम
Dr fauzia Naseem shad
दुख वो नहीं होता,
दुख वो नहीं होता,
Vishal babu (vishu)
सुकून
सुकून
इंजी. संजय श्रीवास्तव
Stay grounded
Stay grounded
Bidyadhar Mantry
■ दूसरा पहलू
■ दूसरा पहलू
*प्रणय प्रभात*
पतझड़
पतझड़
ओसमणी साहू 'ओश'
Irritable Bowel Syndrome
Irritable Bowel Syndrome
Tushar Jagawat
जन्म दिवस
जन्म दिवस
Jatashankar Prajapati
कुछ बेशकीमती छूट गया हैं तुम्हारा, वो तुम्हें लौटाना चाहता हूँ !
कुछ बेशकीमती छूट गया हैं तुम्हारा, वो तुम्हें लौटाना चाहता हूँ !
The_dk_poetry
जीवन के गीत
जीवन के गीत
Harish Chandra Pande
हवस
हवस
Dr. Pradeep Kumar Sharma
"उन्हें भी हक़ है जीने का"
Dr. Kishan tandon kranti
पत्नी से अधिक पुरुष के चरित्र का ज्ञान
पत्नी से अधिक पुरुष के चरित्र का ज्ञान
शेखर सिंह
❤️ मिलेंगे फिर किसी रोज सुबह-ए-गांव की गलियो में
❤️ मिलेंगे फिर किसी रोज सुबह-ए-गांव की गलियो में
शिव प्रताप लोधी
Love and truth never hide...
Love and truth never hide...
सिद्धार्थ गोरखपुरी
शब्द
शब्द
Ajay Mishra
राज्यतिलक तैयारी
राज्यतिलक तैयारी
Neeraj Mishra " नीर "
शब्दों का महत्त्व
शब्दों का महत्त्व
SURYA PRAKASH SHARMA
हवाओं ने बड़ी तैय्यारी की है
हवाओं ने बड़ी तैय्यारी की है
Shweta Soni
काश लौट कर आए वो पुराने जमाने का समय ,
काश लौट कर आए वो पुराने जमाने का समय ,
Shashi kala vyas
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
आज मानवता मृत्यु पथ पर जा रही है।
आज मानवता मृत्यु पथ पर जा रही है।
पूर्वार्थ
3487.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3487.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
बावरी
बावरी
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
"खामोशी की गहराईयों में"
Pushpraj Anant
*शुभ स्वतंत्रता दिवस हमारा (बाल कविता)*
*शुभ स्वतंत्रता दिवस हमारा (बाल कविता)*
Ravi Prakash
सेंगोल जुवाली आपबीती कहानी🙏🙏
सेंगोल जुवाली आपबीती कहानी🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
क्या होगा कोई ऐसा जहां, माया ने रचा ना हो खेल जहां,
क्या होगा कोई ऐसा जहां, माया ने रचा ना हो खेल जहां,
Manisha Manjari
वक्त
वक्त
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...