Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Jul 2023 · 1 min read

कितना प्यार करता हू

बताऊं मैं तुम्हे कैसे, कि कितना प्यार करता हू
धड़कता दिल संभलता ना, तुम्हे जब याद करता हू।

गुजरती तुम जो गालियों से, तुम्हे देखा मै करता हु
दिखाऊं चाहते कितना, प्यार बेशुमार करता हु ।
धड़कता दिल संभलता ना तुम्हे जब याद करता हू ।

समाकर मेरी सांसों मे, गुजरना दिल से होकर तुम
मचलता मन धड़कता दिल, मैं जब इंतजार करता हू।
धड़कता दिल संभलता ना, तुम्हे जब याद करता हू।

तुम्ही पे है टिकी सांसे, तुम्ही पे है टिकी आंखें
गुजरते एक पल में मै, ख्याल सौ बार करता हु।
धड़कता दिल संभलता ना, तुम्हे जब याद करता हू ।

✍️ बसंत भगवान राय

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 225 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Basant Bhagawan Roy
View all
You may also like:
सब धरा का धरा रह जायेगा
सब धरा का धरा रह जायेगा
Pratibha Pandey
3152.*पूर्णिका*
3152.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मुल्क
मुल्क
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पर्यावरण प्रतिभाग
पर्यावरण प्रतिभाग
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
राम
राम
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
*मेरी रचना*
*मेरी रचना*
Santosh kumar Miri
जिज्ञासा
जिज्ञासा
Dr. Harvinder Singh Bakshi
ओ मां के जाये वीर मेरे...
ओ मां के जाये वीर मेरे...
Sunil Suman
दर्द और जिंदगी
दर्द और जिंदगी
Rakesh Rastogi
*
*"बापू जी"*
Shashi kala vyas
(*खुद से कुछ नया मिलन*)
(*खुद से कुछ नया मिलन*)
Vicky Purohit
सच तो हम और आप ,
सच तो हम और आप ,
Neeraj Agarwal
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
"मुद्रा"
Dr. Kishan tandon kranti
यूं तो मेरे जीवन में हंसी रंग बहुत हैं
यूं तो मेरे जीवन में हंसी रंग बहुत हैं
हरवंश हृदय
ये दुनिया भी हमें क्या ख़ूब जानती है,
ये दुनिया भी हमें क्या ख़ूब जानती है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
क्या हुआ गर नहीं हुआ, पूरा कोई एक सपना
क्या हुआ गर नहीं हुआ, पूरा कोई एक सपना
gurudeenverma198
*अम्मा जी से भेंट*
*अम्मा जी से भेंट*
Ravi Prakash
वो भारत की अनपढ़ पीढ़ी
वो भारत की अनपढ़ पीढ़ी
Rituraj shivem verma
सर्द ठिठुरन आँगन से,बैठक में पैर जमाने लगी।
सर्द ठिठुरन आँगन से,बैठक में पैर जमाने लगी।
पूर्वार्थ
*सपनों का बादल*
*सपनों का बादल*
Poonam Matia
बुलडोज़र स्टेट का
बुलडोज़र स्टेट का
*प्रणय प्रभात*
हमें क़िस्मत ने
हमें क़िस्मत ने
Dr fauzia Naseem shad
मुझे आरज़ू नहीं मशहूर होने की
मुझे आरज़ू नहीं मशहूर होने की
Indu Singh
कोई तो मेरा अपना होता
कोई तो मेरा अपना होता
Juhi Grover
।। मतदान करो ।।
।। मतदान करो ।।
Shivkumar barman
बड़ा सुंदर समागम है, अयोध्या की रियासत में।
बड़ा सुंदर समागम है, अयोध्या की रियासत में।
जगदीश शर्मा सहज
श्रेष्ठ विचार और उत्तम संस्कार ही आदर्श जीवन की चाबी हैं।।
श्रेष्ठ विचार और उत्तम संस्कार ही आदर्श जीवन की चाबी हैं।।
Lokesh Sharma
थकावट दूर करने की सबसे बड़ी दवा चेहरे पर खिली मुस्कुराहट है।
थकावट दूर करने की सबसे बड़ी दवा चेहरे पर खिली मुस्कुराहट है।
Rj Anand Prajapati
21वीं सदी और भारतीय युवा
21वीं सदी और भारतीय युवा
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
Loading...