Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jun 2023 · 1 min read

कांग्रेस की आत्महत्या

🎇 विदाई🎇

दंगो से दंगो को दबाना, नंगो को नंगो से लड़ाना।
बसी हुई बस्तियां जलाना, धर्म जाति में द्वेष बढ़ाना ।।

संस्कार का मूल मिटाना, उत्तर से दक्षिण को लड़ाना।
राम नाम को झूठ बताना, अल्ला रसूल पर चुप कर जाना।।

जननी है तू क्षेत्रवाद की, जातिवाद परिवाद की।
नक्सल तेरी कोख से जन्मा, पिता बनी आतंकवाद की।।

माता है तू घुसखोरी की, कत्ल डकैती अरु चोरी की।
सरकारी फाइल से जन्मी, जनमानस के मजबूरी की।।

तू तो बस एक नागिन है, कितनी बड़ी अभागिनी है।
खुद के बच्चे खाकर खुश है, तू तो बड़ी डरावनी है।।

सोया भारत जाग चुका है, कथनी करनी देख चुका है।
पैसे खातिर देश हो बेचे, तुमको अब पहचान चुका है।।

भारत की जनता उदार है, तुमको फिर भी माफ कर रही।
धीरे धीरे सब राज्यों से, सुरसा पूतना को साफ कर रही।।

हे व्याभिचारिणी “कांग्रेस” सुन ले, अब तो तेरा तर्पण है।
काशी के गंगा घाटों पर, तुझको मुखाग्नि समर्पण है।।

🌷संजय🌷

Language: Hindi
1 Like · 129 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
किराये के मकानों में
किराये के मकानों में
करन ''केसरा''
रोज हमको सताना गलत बात है
रोज हमको सताना गलत बात है
कृष्णकांत गुर्जर
धरती के सबसे क्रूर जानवर
धरती के सबसे क्रूर जानवर
*Author प्रणय प्रभात*
जय जगदम्बे जय माँ काली
जय जगदम्बे जय माँ काली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
माई बेस्ट फ्रैंड ''रौनक''
माई बेस्ट फ्रैंड ''रौनक''
लक्की सिंह चौहान
अयोध्या धाम तुम्हारा तुमको पुकारे
अयोध्या धाम तुम्हारा तुमको पुकारे
Harminder Kaur
संवेदना(कलम की दुनिया)
संवेदना(कलम की दुनिया)
Dr. Vaishali Verma
आधार छंद - बिहारी छंद
आधार छंद - बिहारी छंद
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
जिस के नज़र में पूरी दुनिया गलत है ?
जिस के नज़र में पूरी दुनिया गलत है ?
Sandeep Mishra
चुका न पाएगा कभी,
चुका न पाएगा कभी,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
लिखें और लोगों से जुड़ना सीखें
लिखें और लोगों से जुड़ना सीखें
DrLakshman Jha Parimal
मास्टर जी का चमत्कारी डंडा🙏
मास्टर जी का चमत्कारी डंडा🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
इतना आसान होता
इतना आसान होता
हिमांशु Kulshrestha
संदेश बिन विधा
संदेश बिन विधा
Mahender Singh
* भावना में *
* भावना में *
surenderpal vaidya
खुद में भी एटीट्यूड होना जरूरी है साथियों
खुद में भी एटीट्यूड होना जरूरी है साथियों
शेखर सिंह
अब तो  सब  बोझिल सा लगता है
अब तो सब बोझिल सा लगता है
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
*राजा राम सिंह का वंदन, जिनका राज्य कठेर था (गीत)*
*राजा राम सिंह का वंदन, जिनका राज्य कठेर था (गीत)*
Ravi Prakash
पानी की तस्वीर तो देखो
पानी की तस्वीर तो देखो
VINOD CHAUHAN
जो थक बैठते नहीं है राहों में
जो थक बैठते नहीं है राहों में
REVATI RAMAN PANDEY
🌸 सभ्य समाज🌸
🌸 सभ्य समाज🌸
पूर्वार्थ
विलीन
विलीन
sushil sarna
जोकर
जोकर
Neelam Sharma
23/34.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/34.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बाकी है...!!
बाकी है...!!
Srishty Bansal
उम्र के हर एक पड़ाव की तस्वीर क़ैद कर लेना
उम्र के हर एक पड़ाव की तस्वीर क़ैद कर लेना
'अशांत' शेखर
" क़ैदी विचाराधीन हूँ "
Chunnu Lal Gupta
इश्क़ में जूतियों का भी रहता है डर
इश्क़ में जूतियों का भी रहता है डर
आकाश महेशपुरी
किसी को अपने संघर्ष की दास्तान नहीं
किसी को अपने संघर्ष की दास्तान नहीं
Jay Dewangan
शहरी हो जरूर तुम,
शहरी हो जरूर तुम,
Dr. Man Mohan Krishna
Loading...