Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jun 2021 · 1 min read

कसूर किसका

वो खुदा नहीं मिलता
है ये कसूर किसका।
इंतजार हम करें
आराम वो करें
समय बर्बाद किसका।
ख्वाइशें दिल में हो
या दिल ख्वाहिशों से भरा हो
जो पूरी ना हो
उसका क्या फायदा।
बात एक करें या अनेक हो
अर्थ जिसका सही नहीं हो
उसका क्या फायदा।
हर कोई हे कन्फ्यूजन मे
पर उसे कोई नहीं मानता
दिक्कते कहां है
ये कोई नहीं जानता।
वास्तविकता क्या है
ये कोई नहीं पहचानता।
मानते है सब
उस खुदा को
पर उस खुदा को
कोई नहीं पहचानता।
इसका या उसका
न जाने किस का
पता होते हुए भी
ना पता चले
कि लापता किसका।
वो हे भी
नहीं भी
हे वो सामने भी
दूर भी
हे वो दुनिया मे जरूर भी
आंखें होते हुए भी
देख ना पाए
इसमे कसूर किसका।…
swami ganganiya

Language: Hindi
3 Likes · 2 Comments · 606 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मुक्तक
मुक्तक
Rajkumar Bhatt
अहंकार और अधंकार दोनों तब बहुत गहरा हो जाता है जब प्राकृतिक
अहंकार और अधंकार दोनों तब बहुत गहरा हो जाता है जब प्राकृतिक
Rj Anand Prajapati
Advice
Advice
Shyam Sundar Subramanian
शहद टपकता है जिनके लहजे से
शहद टपकता है जिनके लहजे से
सिद्धार्थ गोरखपुरी
दोहावली...
दोहावली...
डॉ.सीमा अग्रवाल
आसमानों को छूने की जद में निकले
आसमानों को छूने की जद में निकले
कवि दीपक बवेजा
23/112.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/112.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आईना
आईना
KAPOOR IQABAL
सीनाजोरी (व्यंग्य)
सीनाजोरी (व्यंग्य)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ऐसा कहते हैं सब मुझसे
ऐसा कहते हैं सब मुझसे
gurudeenverma198
नव संवत्सर
नव संवत्सर
Manu Vashistha
*मायावी मारा गया, रावण प्रभु के हाथ (कुछ दोहे)*
*मायावी मारा गया, रावण प्रभु के हाथ (कुछ दोहे)*
Ravi Prakash
“ सर्वे संतु निरामया”
“ सर्वे संतु निरामया”
DrLakshman Jha Parimal
रोमांटिक रिबेल शायर
रोमांटिक रिबेल शायर
Shekhar Chandra Mitra
गांव के छोरे
गांव के छोरे
जय लगन कुमार हैप्पी
हिंदू कौन?
हिंदू कौन?
Sanjay ' शून्य'
व्यस्तता
व्यस्तता
Surya Barman
तारिक़ फ़तह सदा रहे, सच के लंबरदार
तारिक़ फ़तह सदा रहे, सच के लंबरदार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
****शीतल प्रभा****
****शीतल प्रभा****
Kavita Chouhan
विषय -घर
विषय -घर
rekha mohan
जीवन को जीतती हैं
जीवन को जीतती हैं
Dr fauzia Naseem shad
💐प्रेम कौतुक-392💐
💐प्रेम कौतुक-392💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"बर्बादी का बीज"
Dr. Kishan tandon kranti
🌺हे परम पिता हे परमेश्वर 🙏🏻
🌺हे परम पिता हे परमेश्वर 🙏🏻
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
Tum khas ho itne yar ye  khabar nhi thi,
Tum khas ho itne yar ye khabar nhi thi,
Sakshi Tripathi
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली
Basant Bhagawan Roy
प्यार है रब की इनायत या इबादत क्या है।
प्यार है रब की इनायत या इबादत क्या है।
सत्य कुमार प्रेमी
आसाध्य वीना का सार
आसाध्य वीना का सार
Utkarsh Dubey “Kokil”
तू सच में एक दिन लौट आएगी मुझे मालूम न था…
तू सच में एक दिन लौट आएगी मुझे मालूम न था…
Anand Kumar
अंगुलिया
अंगुलिया
Sandeep Pande
Loading...