Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 11, 2021 · 1 min read

कसूर किसका

वो खुदा नहीं मिलता
है ये कसूर किसका
इंतजार हम करें
आराम वो करें
समय बर्बाद किसका
ख्वाइशें दिल में हो
या दिल ख्वाहिशों से भरा हो
जो पूरी ना हो
उसका क्या फायद
बात एक करें या अनेक हो
अर्थ जिसका सही नहीं हो
उसका क्या फायदा
हर कोई हे कन्फ्यूजन मे
पर उसे कोई नहीं मानता
दिक्कते कहां है
ये कोई नहीं जानता
वास्तविकता क्या है
ये कोई नहीं पहचानता
मानते है सब
उस खुदा को
पर उस खुदा को
कोई नहीं पहचानता
इसका या उसका
न जाने किस का
पता होते हुए भी
ना पता चले
कि लापता किसका
वो हे भी
नहीं भी
हे वो सामने भी
दूर भी
हे वो दुनिया मे जरूर भी
आंखें होते हुए भी
देख ना पाए
इसमे कसूर किसका
swami ganganiya

3 Likes · 2 Comments · 448 Views
You may also like:
जाम से नही,आंखो से पिला दो
Ram Krishan Rastogi
मजदूर की जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
मेरी ये जां।
Taj Mohammad
मोहब्बत में दिल।
Taj Mohammad
अमृत महोत्सव
Mahender Singh Hans
तुम कहते हो।
Taj Mohammad
लागेला धान आई ना घरे
आकाश महेशपुरी
दोस्त हो जो मेरे पास आओ कभी।
सत्य कुमार प्रेमी
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
जनसंख्या नियंत्रण जरूरी है।
Anamika Singh
बचपन की यादें।
Anamika Singh
मैं द्रौपदी, मेरी कल्पना
Anamika Singh
कुछ तो उबाल दो
Dr fauzia Naseem shad
💐तर्जुमा💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
जीवन और दर्द
Anamika Singh
भारतीय संस्कृति के सेतु आदि शंकराचार्य
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
किसी के मेयार पर
Dr fauzia Naseem shad
✍️पर्दा-ताक हुवा नहीं✍️
'अशांत' शेखर
घृणित नजर
Dr Meenu Poonia
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग ५]
Anamika Singh
क्यो अश्क बहा रहे हो
Anamika Singh
चाय की चुस्की
श्री रमण 'श्रीपद्'
इच्छा
Anamika Singh
"मैं फ़िर से फ़ौजी कहलाऊँगा"
Lohit Tamta
यह तो वक्ती हस्ती है।
Taj Mohammad
# उम्मीद की किरण #
Dr.Alpa Amin
*दही (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
शादी का उत्सव
AMRESH KUMAR VERMA
दर्द आवाज़ ही नहीं देता
Dr fauzia Naseem shad
Loading...