Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2023 · 1 min read

कश्मकश

अजब कश्मकश है इस मन की,
न पाने की निराशा भी है,
अधूरेपन का सुख भी।
बावस्तगी की जुस्तजू भी है,
अलहदगी की अजमाइश भी।
एकांत प्रेम की परिभाषा भी है,
जग ज़ाहिर रुसवाई भी।🙂

Language: Hindi
1 Like · 332 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बापू की पुण्य तिथि पर
बापू की पुण्य तिथि पर
Ram Krishan Rastogi
बेटा पढ़ाओ कुसंस्कारों से बचाओ
बेटा पढ़ाओ कुसंस्कारों से बचाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तेरे लहजे पर यह कोरी किताब कुछ तो है |
तेरे लहजे पर यह कोरी किताब कुछ तो है |
कवि दीपक बवेजा
जो लोग अपनी जिंदगी से संतुष्ट होते हैं वे सुकून भरी जिंदगी ज
जो लोग अपनी जिंदगी से संतुष्ट होते हैं वे सुकून भरी जिंदगी ज
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कमियाबी क्या है
कमियाबी क्या है
पूर्वार्थ
(22) एक आंसू , एक हँसी !
(22) एक आंसू , एक हँसी !
Kishore Nigam
सफलता
सफलता
Dr. Pradeep Kumar Sharma
■ चल गया होगा पता...?
■ चल गया होगा पता...?
*Author प्रणय प्रभात*
होठों पर मुस्कान,आँखों में नमी है।
होठों पर मुस्कान,आँखों में नमी है।
लक्ष्मी सिंह
बिछोह
बिछोह
Shaily
मधुर व्यवहार
मधुर व्यवहार
Paras Nath Jha
मसला सिर्फ जुबान का हैं,
मसला सिर्फ जुबान का हैं,
ओसमणी साहू 'ओश'
*होते यदि सीमेंट के, बोरे पीपा तेल (कुंडलिया)*
*होते यदि सीमेंट के, बोरे पीपा तेल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
जिसकी जिससे है छनती,
जिसकी जिससे है छनती,
महेश चन्द्र त्रिपाठी
व्यथा
व्यथा
Kavita Chouhan
भ्रात प्रेम का रूप है,
भ्रात प्रेम का रूप है,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
The magic of your eyes, the downpour of your laughter,
The magic of your eyes, the downpour of your laughter,
Shweta Chanda
*याद है  हमको हमारा  जमाना*
*याद है हमको हमारा जमाना*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
रिवायत
रिवायत
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
न बदले...!
न बदले...!
Srishty Bansal
नफ़रत के सौदागर
नफ़रत के सौदागर
Shekhar Chandra Mitra
✍️दोस्ती ✍️
✍️दोस्ती ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
वक्त गुजर जायेगा
वक्त गुजर जायेगा
Sonu sugandh
💐अज्ञात के प्रति-153💐
💐अज्ञात के प्रति-153💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कर्जा
कर्जा
RAKESH RAKESH
दाम रिश्तों के
दाम रिश्तों के
Dr fauzia Naseem shad
व्यापार नहीं निवेश करें
व्यापार नहीं निवेश करें
Sanjay ' शून्य'
"अकेले रहना"
Dr. Kishan tandon kranti
12- अब घर आ जा लल्ला
12- अब घर आ जा लल्ला
Ajay Kumar Vimal
स्वप्न कुछ
स्वप्न कुछ
surenderpal vaidya
Loading...