Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2024 · 1 min read

(वक्त)

गुजार दिया जो वक्त
नादानियों में
वो कमाल था
जब से, जरा से
समझदार हुए
ताबेदार हुए
वक्त काटे नहीं कटता
दुख बांटे नहीं बंटता
संगीता बैनीवाल

1 Like · 87 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
भेद नहीं ये प्रकृति करती
भेद नहीं ये प्रकृति करती
Buddha Prakash
खता खतों की नहीं थीं , लम्हों की थी ,
खता खतों की नहीं थीं , लम्हों की थी ,
Manju sagar
"मत भूलना"
Dr. Kishan tandon kranti
जो बीत गया उसे जाने दो
जो बीत गया उसे जाने दो
अनूप अम्बर
खुशियों का बीमा
खुशियों का बीमा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
स्वयं से सवाल
स्वयं से सवाल
Rajesh
प्रेम पर बलिहारी
प्रेम पर बलिहारी
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
7) पूछ रहा है दिल
7) पूछ रहा है दिल
पूनम झा 'प्रथमा'
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
जलियांवाला बाग
जलियांवाला बाग
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
~~तीन~~
~~तीन~~
Dr. Vaishali Verma
तुम्हारे हमारे एहसासात की है
तुम्हारे हमारे एहसासात की है
Dr fauzia Naseem shad
"" *जब तुम हमें मिले* ""
सुनीलानंद महंत
किसी की प्रशंसा एक हद में ही करो ताकि प्रशंसा एवं 'खुजाने' म
किसी की प्रशंसा एक हद में ही करो ताकि प्रशंसा एवं 'खुजाने' म
Dr MusafiR BaithA
********* हो गया चाँद बासी ********
********* हो गया चाँद बासी ********
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
■ आज का आभार
■ आज का आभार
*प्रणय प्रभात*
कभी कहा न किसी से तिरे फ़साने को
कभी कहा न किसी से तिरे फ़साने को
Rituraj shivem verma
माँ सच्ची संवेदना...
माँ सच्ची संवेदना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
सूखी टहनियों को सजा कर
सूखी टहनियों को सजा कर
Harminder Kaur
*आर्य समाज और थियोसॉफिकल सोसायटी की सहयात्रा*
*आर्य समाज और थियोसॉफिकल सोसायटी की सहयात्रा*
Ravi Prakash
ये जिन्दगी तुम्हारी
ये जिन्दगी तुम्हारी
VINOD CHAUHAN
आन-बान-शान हमारी हिंदी भाषा
आन-बान-शान हमारी हिंदी भाषा
Raju Gajbhiye
जाति  धर्म  के नाम  पर, चुनने होगे  शूल ।
जाति धर्म के नाम पर, चुनने होगे शूल ।
sushil sarna
बस माटी के लिए
बस माटी के लिए
Pratibha Pandey
!! हे लोकतंत्र !!
!! हे लोकतंत्र !!
Akash Yadav
चौराहे पर....!
चौराहे पर....!
VEDANTA PATEL
गर्मी की छुट्टियां
गर्मी की छुट्टियां
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
गुफ्तगू
गुफ्तगू
Naushaba Suriya
मोबाइल
मोबाइल
लक्ष्मी सिंह
मुकेश का दीवाने
मुकेश का दीवाने
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...