Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Mar 2023 · 1 min read

कविता के हर शब्द का, होता है कुछ सार

कविता के हर शब्द का, होता है कुछ सार
शब्द शब्द का कवि करे, छंदों से शृंगार
छंदों से शृंगार, कल्पना का ले आँचल
कवि कविता के साथ,बना रहता है निश्छल
कहे ‘अर्चना’ बात, भाव की बहती सरिता
जब मिलता है दर्द, जन्म लेती है कविता

डॉ. अर्चना गुप्ता

5 Likes · 1143 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
" है वही सुरमा इस जग में ।
Shubham Pandey (S P)
*आवारा कुत्तों की समस्या 【हास्य व्यंग्य】*
*आवारा कुत्तों की समस्या 【हास्य व्यंग्य】*
Ravi Prakash
याद रखते अगर दुआओ में
याद रखते अगर दुआओ में
Dr fauzia Naseem shad
गुरु श्रेष्ठ
गुरु श्रेष्ठ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
पिया की प्रतीक्षा में जगती रही
पिया की प्रतीक्षा में जगती रही
Ram Krishan Rastogi
इंसान की भूख कामनाएं बढ़ाती है।
इंसान की भूख कामनाएं बढ़ाती है।
Rj Anand Prajapati
राख देख  शमशान  में, मनवा  करे सवाल।
राख देख शमशान में, मनवा करे सवाल।
दुष्यन्त 'बाबा'
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कहाँ जाऊँ....?
कहाँ जाऊँ....?
Kanchan Khanna
रंग भी रंगीन होते है तुम्हे छूकर
रंग भी रंगीन होते है तुम्हे छूकर
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
पहले तेरे हाथों पर
पहले तेरे हाथों पर
The_dk_poetry
जीवन  के  हर  चरण  में,
जीवन के हर चरण में,
Sueta Dutt Chaudhary Fiji
" आज भी है "
Aarti sirsat
Keep this in your mind:
Keep this in your mind:
पूर्वार्थ
💐प्रेम कौतुक-512💐
💐प्रेम कौतुक-512💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
🚩साल नूतन तुम्हें प्रेम-यश-मान दे।
🚩साल नूतन तुम्हें प्रेम-यश-मान दे।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जिंदगी है बहुत अनमोल
जिंदगी है बहुत अनमोल
gurudeenverma198
आज के माहौल में
आज के माहौल में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"चारपाई"
Dr. Kishan tandon kranti
कांग्रेस के नेताओं ने ही किया ‘तिलक’ का विरोध
कांग्रेस के नेताओं ने ही किया ‘तिलक’ का विरोध
कवि रमेशराज
तेरी याद
तेरी याद
Shyam Sundar Subramanian
कोरोना भगाएं
कोरोना भगाएं
Dr. Pradeep Kumar Sharma
#फर्क_तो_है
#फर्क_तो_है
*Author प्रणय प्रभात*
आज की प्रस्तुति: भाग 4
आज की प्रस्तुति: भाग 4
Rajeev Dutta
अपने जीवन के प्रति आप जैसी धारणा रखते हैं,बदले में आपका जीवन
अपने जीवन के प्रति आप जैसी धारणा रखते हैं,बदले में आपका जीवन
Paras Nath Jha
यूं हर हर क़दम-ओ-निशां पे है ज़िल्लतें
यूं हर हर क़दम-ओ-निशां पे है ज़िल्लतें
Aish Sirmour
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Fuzail Sardhanvi
रामेश्वरम लिंग स्थापना।
रामेश्वरम लिंग स्थापना।
Acharya Rama Nand Mandal
दास्ताने-इश्क़
दास्ताने-इश्क़
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
वक्ता का है तकाजा जरा तुम सुनो।
वक्ता का है तकाजा जरा तुम सुनो।
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
Loading...