Sep 1, 2016 · 1 min read

कविता :– औरंगजेब इस सर जमीं का सबसे बड़ा नवाब था !!

कविता :– औरंगजेब इस सर जमीं का सबसे बड़ा नवाब था !!

पारदर्शिता का अनुयायी
जो सच का रखवाला था !
बाबर के कुल का चिराग
वो टोपी बुनने वाला था !!

जब से होश सम्हाला वो
खुद की मेहनत से खाया था !
राजकोष का पाई पाई
जन-जन में वर्शाया था !!

कौन यहाँ नायाब हुआ था
गद्दी में सतकर्मों से !
सत्ता तो सब नें छिनी थीं
मार धाड़ दुष्कर्मों से !!

ताजमहल की चकाचौंध में
जो अंधा था दासी में !
शाहजहाँ नें भी लुटवाया
राजपाठ अय्यासी में !!

बाप को बंदी करने में
ना सत्ता का कोई बहाना था !
घात लगाये दुश्मन से
बस अपना मुल्क बचाना था !!

गुनाह चाहे कैसा भी हो
गुनाह नहीँ तौला करते थे !
औरंगजेब के शाशन में तो
पत्थर भी बोला करते थे !!

सिकंदर भी जहां महान बना
वहाँ लाशों का सैलाब था !
औरंगजेब इस सर जमीं का
सबसे बड़ा नवाब था !!

अनुज तिवारी “इन्दवार”

1 Like · 7 Comments · 626 Views
You may also like:
"पिता और शौर्य"
Lohit Tamta
मैं
Saraswati Bajpai
नीड़ फिर सजाना है
Saraswati Bajpai
लगा हूँ...
Sandeep Albela
【20】 ** भाई - भाई का प्यार खो गया **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
पूंजीवाद में ही...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
महँगाई
आकाश महेशपुरी
क्या अटल था?
Saraswati Bajpai
पेड़ - बाल कविता
Kanchan Khanna
परिंदों सा।
Taj Mohammad
🍀🌺प्रेम की राह पर-51🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता
Manisha Manjari
ब्रेक अप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
☆☆ प्यार का अनमोल मोती ☆☆
Dr. Alpa H.
पिता की सीख
Anamika Singh
शायद...
Dr. Alpa H.
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
वेदों की जननी... नमन तुझे,
मनोज कर्ण
# हे राम ...
Chinta netam मन
वसंत
AMRESH KUMAR VERMA
ममता की फुलवारी माँ हमारी
Dr. Alpa H.
कहां जीवन है ?
Saraswati Bajpai
युद्ध हमेशा टाला जाए
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
तुम्हारे जन्मदिन पर
अंजनीत निज्जर
मुक्तक(मंच)
Dr Archana Gupta
मूक हुई स्वर कोकिला
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बेजुबां जीव
Jyoti Khari
1-अश्म पर यह तेरा नाम मैंने लिखा2- अश्म पर मेरा...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
उस दिन
Alok Saxena
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, एक सच्चे इंसान थे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...