Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Aug 12, 2016 · 1 min read

कविता :– इस झंडे का गुणगान करें !!

!! इस झण्डे का गुणगान करें !!!!

सब प्रांगण मे एकत्र हुए
फिर देश फिरंगी मुक्त किये ,
कारगर थी उपयुक्त नीति
जो मिली हमे संयुक्त जीत !
अजय अभय है निर्भय काया
निर्मल दामन जैसी छाया ,
सहस्त्र भुजाओ का बल देता
रक्त कणों से रंग कर आया !

हम अपना एक पल कुर्वान करें !
इस झण्डे का गुणगान करें !!

जाति धर्म और रंग रूप
ले जाती एक व्यथित कूप ,
धूप आंच और दूसित छाव
पीडा देते जख्मी घाव !
सदभाव भरा अपना जीवन
सच्चाई पे कर दे अर्पण ,
प्रेम भाव और भाईचारा
दूर करेगा जग अन्धियारा !

भाव भरा इन्सान बने !
इस झण्डे का गुणगान करें !!

ऐसे अमिट ये कदम चिन्ह
मुश्किल थोडे भिन्न-भिन्न ,
मन मे जब अनुभूति हुई
मौत यहां भयभीत हुई !
गम्भीर बडी तेरी रुधिर बूंद
सिद्धत पे शीश झुका देती ,
उबल पडे यूं प्रवल रुधिर
इज्जत पे शीश कटा देती !

झण्डे पर अभिमान करें !
इस झण्डे का गुनगान करें !!

ऊंच-नीच की बात ना हो
रंग भेद पे घात ना हो ,
जात नहीं इस झण्डे की
वो गम की काली रात ना हो !
लाल हरे मे कैसा दंगा
सबका अपना एक तिरंगा ,
रंग भरें दिल मे उमंग का
पथिक बनें हम प्रवल प्रचण्डा !

आओ इसका सम्मान करें !
इस झण्डे का गुणगान करें !!

विकट विराट इरादे अपने
साझा करते मीठे सपने ,
संग चलने संग बढने वाले
अमिट अडिग हम अड़नें वाले !
रंग भरा महके गुलशन
ये अमन चैन का देता जीवन ,
दामन खुशियों से भरने वाले….
मेरे सात जन्म तुझ पर अर्पण !

आओ खुद का बलिदान करें !
झण्डे का गुणगान करें !!

अनुज तिवारी “इन्दवार”

383 Views
You may also like:
पैसा
Arjun Chauhan
पिता खुशियों का द्वार है।
Taj Mohammad
🌺🌺प्रेम की राह पर-41🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तेरी खैर मांगता हूं खुदा से।
Taj Mohammad
✍️स्टेचू✍️
"अशांत" शेखर
स्मृति : पंडित प्रकाश चंद्र जी
Ravi Prakash
कुछ नहीं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
रोग ने कितना अकेला कर दिया
Dr Archana Gupta
** बेटी की बिदाई का दर्द **
Dr. Alpa H. Amin
मुझे धोखेबाज न बनाना।
Anamika Singh
साथीला तूच हवे
"अशांत" शेखर
टेढ़ी-मेढ़ी जलेबी
Buddha Prakash
【6】** माँ **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
रहे न अगर आस तो....
डॉ.सीमा अग्रवाल
पिता
Pt. Brajesh Kumar Nayak
.....उनके लिए मैं कितना लिखूं?
ऋचा त्रिपाठी
✍️डार्क इमेज...!✍️
"अशांत" शेखर
नीति के दोहे
Rakesh Pathak Kathara
पृथ्वी दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जिंदगी में जो उजाले दे सितारा न दिखा।
सत्य कुमार प्रेमी
जगाओ हिम्मत और विश्वास तुम
gurudeenverma198
इशारो ही इशारो से...😊👌
N.ksahu0007@writer
आदर्श ग्राम्य
Tnmy R Shandily
Your laugh,Your cry.
Taj Mohammad
अब सुप्त पड़ी मन की मुरली, यह जीवन मध्य फँसा...
संजीव शुक्ल 'सचिन'
माई री ,माई री( भाग १)
Anamika Singh
सारे द्वार खुले हैं हमारे कोई झाँके तो सही
Vivek Pandey
जो आया है इस जग में वह जाएगा।
Anamika Singh
बेबस पिता
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
** The Highway road **
Buddha Prakash
Loading...