Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Jun 2023 · 1 min read

करो खुद पर यकीं

तकदीर पे भरोसा न करो,
कोई तदबीर निकालो ।
छू लोगो आसमां तुम भी,
कभी खुद पे भी भरोसा कर लो ।।

डां. अखिलेश बघेल
दतिया (म.प्र.)

Language: Hindi
1 Like · 139 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*मेरी इच्छा*
*मेरी इच्छा*
Dushyant Kumar
যখন হৃদয় জ্বলে, তখন প্রদীপ জ্বালানোর আর প্রয়োজন নেই, হৃদয়ে
যখন হৃদয় জ্বলে, তখন প্রদীপ জ্বালানোর আর প্রয়োজন নেই, হৃদয়ে
Sakhawat Jisan
■ जीवन सार...
■ जीवन सार...
*Author प्रणय प्रभात*
आज आंखों में
आज आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
देर हो जाती है अकसर
देर हो जाती है अकसर
Surinder blackpen
"जब मानव कवि बन जाता हैं "
Slok maurya "umang"
कब मरा रावण
कब मरा रावण
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
तेरा इश्क मेरे दिल की दवा है।
तेरा इश्क मेरे दिल की दवा है।
Rj Anand Prajapati
एक मेरे सिवा तुम सबका ज़िक्र करती हो,मुझे
एक मेरे सिवा तुम सबका ज़िक्र करती हो,मुझे
Keshav kishor Kumar
तहरीर
तहरीर
DR ARUN KUMAR SHASTRI
खेलों का महत्व
खेलों का महत्व
विजय कुमार अग्रवाल
हे राम,,,,,,,,,सहारा तेरा है।
हे राम,,,,,,,,,सहारा तेरा है।
Sunita Gupta
मायापुर यात्रा की झलक
मायापुर यात्रा की झलक
Pooja Singh
बहुत अंदर तक जला देती हैं वो शिकायतें,
बहुत अंदर तक जला देती हैं वो शिकायतें,
शेखर सिंह
जिंदगी है कोई मांगा हुआ अखबार नहीं ।
जिंदगी है कोई मांगा हुआ अखबार नहीं ।
Phool gufran
जीवन का कठिन चरण
जीवन का कठिन चरण
पूर्वार्थ
श्री राम राज्याभिषेक
श्री राम राज्याभिषेक
नवीन जोशी 'नवल'
वो सुहानी शाम
वो सुहानी शाम
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
रमेशराज के साम्प्रदायिक सद्भाव के गीत
रमेशराज के साम्प्रदायिक सद्भाव के गीत
कवि रमेशराज
मच्छर
मच्छर
लक्ष्मी सिंह
देने के लिए मेरे पास बहुत कुछ था ,
देने के लिए मेरे पास बहुत कुछ था ,
Rohit yadav
*अर्ध-विराम सही स्थान पर लगाने का महत्व*
*अर्ध-विराम सही स्थान पर लगाने का महत्व*
Ravi Prakash
-------ग़ज़ल-----
-------ग़ज़ल-----
प्रीतम श्रावस्तवी
तलाश हमें  मौके की नहीं मुलाकात की है
तलाश हमें मौके की नहीं मुलाकात की है
Tushar Singh
यदि हर कोई आपसे खुश है,
यदि हर कोई आपसे खुश है,
नेताम आर सी
मौत का क्या भरोसा
मौत का क्या भरोसा
Ram Krishan Rastogi
बहुत कीमती है पानी,
बहुत कीमती है पानी,
Anil Mishra Prahari
“देवभूमि क दिव्य दर्शन” मैथिली ( यात्रा -संस्मरण )
“देवभूमि क दिव्य दर्शन” मैथिली ( यात्रा -संस्मरण )
DrLakshman Jha Parimal
🌷साथ देते है कौन यहाँ 🌷
🌷साथ देते है कौन यहाँ 🌷
Dr.Khedu Bharti
कौन कितने पानी में
कौन कितने पानी में
Mukesh Jeevanand
Loading...