Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Oct 2022 · 1 min read

दिल की चाहत

करीब जाने की दिल की चाहत है जिसके
वह शख्स फिर इतना मुझसे दूर क्यों है !

किसी और के दिल में घर करके बैठा है ,
उसी से मिलने को दिल मजबूर क्यों है !!

इश्क हुआ है, यह दोनों की गनीमत है ,
फिर मैं कसूरवार, वह बेकसूर क्यों है !!

✍कवि दीपक सरल

Language: Hindi
2 Likes · 225 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
फूल मुरझाए के बाद दोबारा नई खिलय,
फूल मुरझाए के बाद दोबारा नई खिलय,
Krishna Kumar ANANT
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
*परिवार: सात दोहे*
*परिवार: सात दोहे*
Ravi Prakash
2824. *पूर्णिका*
2824. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"शाश्वत"
Dr. Kishan tandon kranti
अगर.... किसीसे ..... असीम प्रेम करो तो इतना कर लेना की तुम्ह
अगर.... किसीसे ..... असीम प्रेम करो तो इतना कर लेना की तुम्ह
पूर्वार्थ
वृंदा तुलसी पेड़ स्वरूपा
वृंदा तुलसी पेड़ स्वरूपा
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
राष्ट्र हित में मतदान
राष्ट्र हित में मतदान
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
आप किससे प्यार करते हैं?
आप किससे प्यार करते हैं?
Otteri Selvakumar
तुझे किस बात ला गुमान है
तुझे किस बात ला गुमान है
भरत कुमार सोलंकी
सरकारी
सरकारी
Lalit Singh thakur
अपनी समस्या का समाधान_
अपनी समस्या का समाधान_
Rajesh vyas
ऐसा एक भारत बनाएं
ऐसा एक भारत बनाएं
नेताम आर सी
मां रिश्तों में सबसे जुदा सी होती है।
मां रिश्तों में सबसे जुदा सी होती है।
Taj Mohammad
गुम है सरकारी बजट,
गुम है सरकारी बजट,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
श्री राम एक मंत्र है श्री राम आज श्लोक हैं
श्री राम एक मंत्र है श्री राम आज श्लोक हैं
Shankar N aanjna
संकल्प
संकल्प
Shyam Sundar Subramanian
मैने वक्त को कहा
मैने वक्त को कहा
हिमांशु Kulshrestha
महबूबा
महबूबा
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
सुप्रभात प्रिय..👏👏
सुप्रभात प्रिय..👏👏
आर.एस. 'प्रीतम'
जख्मो से भी हमारा रिश्ता इस तरह पुराना था
जख्मो से भी हमारा रिश्ता इस तरह पुराना था
कवि दीपक बवेजा
हटा 370 धारा
हटा 370 धारा
लक्ष्मी सिंह
किसी भी देश काल और स्थान पर भूकम्प आने का एक कारण होता है मे
किसी भी देश काल और स्थान पर भूकम्प आने का एक कारण होता है मे
Rj Anand Prajapati
#दोषी_संरक्षक
#दोषी_संरक्षक
*प्रणय प्रभात*
*भला कैसा ये दौर है*
*भला कैसा ये दौर है*
sudhir kumar
छटपटाता रहता है आम इंसान
छटपटाता रहता है आम इंसान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जिसनै खोया होगा
जिसनै खोया होगा
MSW Sunil SainiCENA
न  सूरत, न  शोहरत, न  नाम  आता  है
न सूरत, न शोहरत, न नाम आता है
Anil Mishra Prahari
अलमस्त रश्मियां
अलमस्त रश्मियां
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
मिलेंगे इक रोज तसल्ली से हम दोनों
मिलेंगे इक रोज तसल्ली से हम दोनों
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
Loading...