Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

करते रहिये काम

जब तक है जाने जहाँ, करते रहिये काम।
बोझ बनी ज्यूँ ज़िन्दगी, घर के घर नीलाम।।

सूर्यकांत द्विवेदी

1 Like · 49 Views
You may also like:
वर्षा
Vijaykumar Gundal
वक्त की चौसर
Saraswati Bajpai
🌺🌺Kill your sorrows with your willpower🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता का सपना
श्री रमण
महँगाई
आकाश महेशपुरी
क्या अटल था?
Saraswati Bajpai
जन्म दिन की बधाई..... दोस्त को...
Dr. Alpa H. Amin
रुतबा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
बदनाम दिल बेचारा है
Taj Mohammad
वक्त दर्पण दिखा दे तो अच्छा ही है।
Renuka Chauhan
पापा आप बहुत याद आते हो।
Taj Mohammad
कर्म
Rakesh Pathak Kathara
मकड़ी है कमाल
Buddha Prakash
*श्री प्रदीप कुमार बंसल उर्फ मुन्ना बंसल की याद*
Ravi Prakash
ये सियासत है।
Taj Mohammad
✍️कही हजार रंग है जिंदगी के✍️
"अशांत" शेखर
✍️स्त्री : दोन बाजु✍️
"अशांत" शेखर
✍️पत्थर✍️
"अशांत" शेखर
ग़ज़ल
kamal purohit
गुफ़्तगू का ढंग आना चाहिए
अश्क चिरैयाकोटी
तोड़कर तुमने मेरा विश्वास
gurudeenverma198
वोट भी तो दिल है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हो दर्दे दिल तो हाले दिल सुनाया भी नहीं जाता।
सत्य कुमार प्रेमी
माँ की परिभाषा मैं दूँ कैसे?
Jyoti Khari
मां की पुण्यतिथि
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दुआएं करेंगी असर धीरे- धीरे
Dr Archana Gupta
जिज्ञासा
Rj Anand Prajapati
दीये की बाती
सूर्यकांत द्विवेदी
प्रार्थना
Anamika Singh
वर्तमान
Vikas Sharma'Shivaaya'
Loading...