Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Aug 2023 · 1 min read

कब तक यही कहे

💐ना जाने ये क्या अदा 💐

तेरे अनुभव मेरे अनुभव जुदा जुदा है,
तेरे हाथों में चाँदी की चमची आई,
मेरे हाथों में हथ डंडा सदा सदा है,,,

मैं दर दर भटका ठोकर खाई,
तू जिस दर ठिठका रहमत पाई,,
दुःख जीवन में तेरे यदा कदा है,,,

सदा सुहाने पल की खातिर,
हर पल जागे सोने की खातिर,,
फिर लानत जीवन में सर्वदा है,,,

तुम आसानी से सब पाओ जग में,
खून सुधा सा है जैसे तेरी ही रग में,,
हम दंश झेलते जिंदगी जेल यरवदा है,,,

मनु मनुज की मनुजता में भारी अंतर,
हम पत्थर से कंकर वो पत्थर से शंकर,,
थोड़ा तो हमें भी समझो बस यही सदा है,,,
आपका🙏
✍️मानक लाल मनु विनीता मनु Manu Std

Language: Hindi
2 Likes · 143 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्रेम
प्रेम
Dr.Archannaa Mishraa
#वंदन_अभिनंदन
#वंदन_अभिनंदन
*Author प्रणय प्रभात*
“आँख के बदले आँख पूरी दुनिया को अँधा बना देगी”- गांधी जी
“आँख के बदले आँख पूरी दुनिया को अँधा बना देगी”- गांधी जी
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
*हर मरीज के भीतर समझो, बसे हुए भगवान हैं (गीत)*
*हर मरीज के भीतर समझो, बसे हुए भगवान हैं (गीत)*
Ravi Prakash
जो समझदारी से जीता है, वह जीत होती है।
जो समझदारी से जीता है, वह जीत होती है।
Sidhartha Mishra
हरि से मांगो,
हरि से मांगो,
Satish Srijan
विचार, संस्कार और रस [ दो ]
विचार, संस्कार और रस [ दो ]
कवि रमेशराज
महफिलों का दौर चलने दो हर पल
महफिलों का दौर चलने दो हर पल
VINOD CHAUHAN
आदमी हैं जी
आदमी हैं जी
Neeraj Agarwal
जीवन का जीवन
जीवन का जीवन
Dr fauzia Naseem shad
बना चाँद का उड़न खटोला
बना चाँद का उड़न खटोला
Vedha Singh
एक दिन उसने यूं ही
एक दिन उसने यूं ही
Rachana
वो कड़वी हक़ीक़त
वो कड़वी हक़ीक़त
पूर्वार्थ
23/217. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/217. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कजरी लोक गीत
कजरी लोक गीत
लक्ष्मी सिंह
सृष्टि का अंतिम सत्य प्रेम है
सृष्टि का अंतिम सत्य प्रेम है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
// कामयाबी के चार सूत्र //
// कामयाबी के चार सूत्र //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
दहन
दहन
Shyam Sundar Subramanian
((((((  (धूप ठंढी मे मुझे बहुत पसंद है))))))))
(((((( (धूप ठंढी मे मुझे बहुत पसंद है))))))))
Rituraj shivem verma
नए साल की नई सुबह पर,
नए साल की नई सुबह पर,
Anamika Singh
झरोखा
झरोखा
Sandeep Pande
कठिन परिश्रम साध्य है, यही हर्ष आधार।
कठिन परिश्रम साध्य है, यही हर्ष आधार।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
Jay prakash dewangan
Jay prakash dewangan
Jay Dewangan
सब कुछ बदल गया,
सब कुछ बदल गया,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
करवाचौथ
करवाचौथ
Mukesh Kumar Sonkar
खर्च हो रही है ज़िन्दगी।
खर्च हो रही है ज़िन्दगी।
Taj Mohammad
प्रथम दृष्ट्या प्यार
प्रथम दृष्ट्या प्यार
SURYA PRAKASH SHARMA
इश्क़ चाहत की लहरों का सफ़र है,
इश्क़ चाहत की लहरों का सफ़र है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
राम नाम  हिय राख के, लायें मन विश्वास।
राम नाम हिय राख के, लायें मन विश्वास।
Vijay kumar Pandey
#drarunkumarshastri♥️❤️
#drarunkumarshastri♥️❤️
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...