Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Jan 2023 · 1 min read

कब तक इंतजार तेरा हम करते

कब तक इंतजार तेरा, हम करते।
वफ़ा इसके सिवा, क्या हम करते।।
कब तक इंतजार—————–।।

इतने सितम हमने, सहे नहीं और के।
बुराई सरेआम तेरी, क्या हम करते।।
कब तक इंतजार——————-।।

तुमने भी पढ़े होंगे, खत तो हमारे।
तेरे दुश्मन का साथ, क्या हम करते।।
कब तक इंतजार——————-।।

पसंद नहीं आई तुम्हें, महफ़िल हमारी।
लहू के सिवा तलब, क्या हम करते।।
कब तक इंतजार——————–।।

परेशान तुम भी हो, चारदीवारी से।
आजाद तुम्हें नहीं, क्या हम करते।।
कब तक इंतजार———————।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 157 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अगर आपमें क्रोध रूपी विष पीने की क्षमता नहीं है
अगर आपमें क्रोध रूपी विष पीने की क्षमता नहीं है
Sonam Puneet Dubey
ढाई अक्षर वालों ने
ढाई अक्षर वालों ने
Dr. Kishan tandon kranti
सूर्यदेव
सूर्यदेव
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
चेहरा सब कुछ बयां नहीं कर पाता है,
चेहरा सब कुछ बयां नहीं कर पाता है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
**कब से बंद पड़ी है गली दुकान की**
**कब से बंद पड़ी है गली दुकान की**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
*ऐसा युग भी आएगा*
*ऐसा युग भी आएगा*
Harminder Kaur
तेरे संग मैंने
तेरे संग मैंने
लक्ष्मी सिंह
*सीधेपन से आजकल, दुनिया कहीं चलती नहीं (हिंदी गजल/गीतिका)*
*सीधेपन से आजकल, दुनिया कहीं चलती नहीं (हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
टूटेगा एतबार
टूटेगा एतबार
Dr fauzia Naseem shad
तुम्हारी दुआ।
तुम्हारी दुआ।
सत्य कुमार प्रेमी
2518.पूर्णिका
2518.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
प्रीति की राह पर बढ़ चले जो कदम।
प्रीति की राह पर बढ़ चले जो कदम।
surenderpal vaidya
" नेतृत्व के लिए उम्र बड़ी नहीं, बल्कि सोच बड़ी होनी चाहिए"
नेताम आर सी
फिर पर्दा क्यूँ है?
फिर पर्दा क्यूँ है?
Pratibha Pandey
गीत प्यार के ही गाता रहूं ।
गीत प्यार के ही गाता रहूं ।
Rajesh vyas
दुश्मन को दहला न सके जो              खून   नहीं    वह   पानी
दुश्मन को दहला न सके जो खून नहीं वह पानी
Anil Mishra Prahari
*स्वप्न को साकार करे साहस वो विकराल हो*
*स्वप्न को साकार करे साहस वो विकराल हो*
पूर्वार्थ
मोहब्बत की दुकान और तेल की पकवान हमेशा ही हानिकारक होती है l
मोहब्बत की दुकान और तेल की पकवान हमेशा ही हानिकारक होती है l
Ashish shukla
माता- पिता
माता- पिता
Dr Archana Gupta
सियासत में आकर।
सियासत में आकर।
Taj Mohammad
किसी ज्योति ने मुझको यूं जीवन दिया
किसी ज्योति ने मुझको यूं जीवन दिया
gurudeenverma198
ब्रांड. . . .
ब्रांड. . . .
sushil sarna
अक्षर ज्ञान नहीं है बल्कि उस अक्षर का को सही जगह पर उपयोग कर
अक्षर ज्ञान नहीं है बल्कि उस अक्षर का को सही जगह पर उपयोग कर
Rj Anand Prajapati
पर्यावरण
पर्यावरण
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
बढ़ता कदम बढ़ाता भारत
बढ़ता कदम बढ़ाता भारत
AMRESH KUMAR VERMA
रोना भी जरूरी है
रोना भी जरूरी है
Surinder blackpen
बादलों पर घर बनाया है किसी ने...
बादलों पर घर बनाया है किसी ने...
डॉ.सीमा अग्रवाल
"मतलब समझाना
*प्रणय प्रभात*
गर्दिश का माहौल कहां किसी का किरदार बताता है.
गर्दिश का माहौल कहां किसी का किरदार बताता है.
कवि दीपक बवेजा
उतर जाती है पटरी से जब रिश्तों की रेल
उतर जाती है पटरी से जब रिश्तों की रेल
हरवंश हृदय
Loading...