Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Apr 2024 · 1 min read

कब तक अंधेरा रहेगा

कब तक अंधेरा रहेगा
कभी तो छटेगा
उजालो को रोशन होने से भला
कौन सी रात रोक पायी हैं🥰✍🏻

61 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Vaishaligoel
View all
You may also like:
कि दे दो हमें मोदी जी
कि दे दो हमें मोदी जी
Jatashankar Prajapati
बहू-बेटी
बहू-बेटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
फूल और कांटे
फूल और कांटे
अखिलेश 'अखिल'
मतवाला मन
मतवाला मन
Dr. Rajeev Jain
भारत की है शान तिरंगा
भारत की है शान तिरंगा
surenderpal vaidya
"दिल में झाँकिए"
Dr. Kishan tandon kranti
हिन्दी
हिन्दी
लक्ष्मी सिंह
#मुझे_गर्व_है
#मुझे_गर्व_है
*Author प्रणय प्रभात*
हर गम दिल में समा गया है।
हर गम दिल में समा गया है।
Taj Mohammad
चलेंगे साथ जब मिलके, नयी दुनियाँ बसा लेंगे !
चलेंगे साथ जब मिलके, नयी दुनियाँ बसा लेंगे !
DrLakshman Jha Parimal
कितना ज्ञान भरा हो अंदर
कितना ज्ञान भरा हो अंदर
Vindhya Prakash Mishra
भेड़चाल
भेड़चाल
Dr fauzia Naseem shad
पंचचामर मुक्तक
पंचचामर मुक्तक
Neelam Sharma
" बस तुम्हें ही सोचूँ "
Pushpraj Anant
जागृति
जागृति
Shyam Sundar Subramanian
झुकाव कर के देखो ।
झुकाव कर के देखो ।
Buddha Prakash
Navratri
Navratri
Sidhartha Mishra
राजनीति
राजनीति
Bodhisatva kastooriya
ब्यूटी विद ब्रेन
ब्यूटी विद ब्रेन
Shekhar Chandra Mitra
चंद ख्वाब मेरी आँखों के, चंद तसव्वुर तेरे हों।
चंद ख्वाब मेरी आँखों के, चंद तसव्वुर तेरे हों।
Shiva Awasthi
आज़ाद पैदा हुआ आज़ाद था और आज भी आजाद है।मौत के घाट उतार कर
आज़ाद पैदा हुआ आज़ाद था और आज भी आजाद है।मौत के घाट उतार कर
Rj Anand Prajapati
M.A वाले बालक ने जब तलवे तलना सीखा था
M.A वाले बालक ने जब तलवे तलना सीखा था
प्रेमदास वसु सुरेखा
सुंदर नाता
सुंदर नाता
Dr.Priya Soni Khare
हमने देखा है हिमालय को टूटते
हमने देखा है हिमालय को टूटते
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कठिनाई  को पार करते,
कठिनाई को पार करते,
manisha
मुक्तक
मुक्तक
डॉक्टर रागिनी
मातृशक्ति
मातृशक्ति
Sanjay ' शून्य'
बहुत मुश्किल है दिल से, तुम्हें तो भूल पाना
बहुत मुश्किल है दिल से, तुम्हें तो भूल पाना
gurudeenverma198
मन में क्यों भरा रहे घमंड
मन में क्यों भरा रहे घमंड
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
2353.पूर्णिका
2353.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Loading...