Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2016 · 1 min read

कब्र में खाली हाथ जाते हैं

उम्र भर मालो ज़र कमाते हैं
क़ब्र में खाली हाथ जाते हैं ।।

लोग खुद पर सितम ये ढाते हैं
धुन में जीने की मारे जाते हैं ।।

एक ही घर है एक आँगन है
चूल्हे फिर क्यू अलग जलाते हैं?

दिल की बाते जो करते हैं अक्सर
दोस्ती अक़्ल से निभाते हैं ।।

काटते जब हैं हम वृक्षों को
कहर क़ुदरत के हम पे आते हैं ।।

पाक है ज़िन्दगी “भवि” उनकी
शीश जो देश पर चढ़ाते हैं ।।

*****शुचि(भवि)*****

2 Comments · 390 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
किसी गैर के पल्लू से बंधी चवन्नी को सिक्का समझना मूर्खता होत
किसी गैर के पल्लू से बंधी चवन्नी को सिक्का समझना मूर्खता होत
विमला महरिया मौज
बीती सदियाँ राम हैं , भारत के उपमान(कुंडलिया)
बीती सदियाँ राम हैं , भारत के उपमान(कुंडलिया)
Ravi Prakash
अगर हौसला हो तो फिर कब ख्वाब अधूरा होता है,
अगर हौसला हो तो फिर कब ख्वाब अधूरा होता है,
Shweta Soni
विश्वकर्मा जयंती उत्सव की सभी को हार्दिक बधाई
विश्वकर्मा जयंती उत्सव की सभी को हार्दिक बधाई
Harminder Kaur
पावन सावन मास में
पावन सावन मास में
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
नटखट-चुलबुल चिड़िया।
नटखट-चुलबुल चिड़िया।
Vedha Singh
हिंदी शायरी का एंग्री यंग मैन
हिंदी शायरी का एंग्री यंग मैन
Shekhar Chandra Mitra
हिंदी दिवस की बधाई
हिंदी दिवस की बधाई
Rajni kapoor
तुम्हारे प्रश्नों के कई
तुम्हारे प्रश्नों के कई
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
अकेला बेटा........
अकेला बेटा........
पूर्वार्थ
आने वाले सभी अभियान सफलता का इतिहास रचेँ
आने वाले सभी अभियान सफलता का इतिहास रचेँ
Er. Sanjay Shrivastava
आकर्षण मृत्यु का
आकर्षण मृत्यु का
Shaily
■ प्रसंगवश....
■ प्रसंगवश....
*Author प्रणय प्रभात*
शिर्डी के साईं बाबा
शिर्डी के साईं बाबा
Sidhartha Mishra
जो लिखा नहीं.....लिखने की कोशिश में हूँ...
जो लिखा नहीं.....लिखने की कोशिश में हूँ...
Vishal babu (vishu)
नज़्म तुम बिन कोई कही ही नहीं।
नज़्म तुम बिन कोई कही ही नहीं।
Neelam Sharma
चलो मैं आज अपने बारे में कुछ बताता हूं...
चलो मैं आज अपने बारे में कुछ बताता हूं...
Shubham Pandey (S P)
!! मैं उसको ढूंढ रहा हूँ !!
!! मैं उसको ढूंढ रहा हूँ !!
Chunnu Lal Gupta
जब दादा जी घर आते थे
जब दादा जी घर आते थे
VINOD CHAUHAN
हे अयोध्या नाथ
हे अयोध्या नाथ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
उज्जैन घटना
उज्जैन घटना
Rahul Singh
कत्ल करती उनकी गुफ्तगू
कत्ल करती उनकी गुफ्तगू
Surinder blackpen
मतिभ्रष्ट
मतिभ्रष्ट
Shyam Sundar Subramanian
चुनिंदा बाल कहानियाँ (पुस्तक, बाल कहानी संग्रह)
चुनिंदा बाल कहानियाँ (पुस्तक, बाल कहानी संग्रह)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*यारा तुझमें रब दिखता है *
*यारा तुझमें रब दिखता है *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दूरियां अब सिमटती सब जा रही है।
दूरियां अब सिमटती सब जा रही है।
surenderpal vaidya
ध्यान-उपवास-साधना, स्व अवलोकन कार्य।
ध्यान-उपवास-साधना, स्व अवलोकन कार्य।
डॉ.सीमा अग्रवाल
कल आंखों मे आशाओं का पानी लेकर सभी घर को लौटे है,
कल आंखों मे आशाओं का पानी लेकर सभी घर को लौटे है,
manjula chauhan
शिव आदि पुरुष सृष्टि के,
शिव आदि पुरुष सृष्टि के,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
संत साईं बाबा
संत साईं बाबा
Pravesh Shinde
Loading...