Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jul 30, 2016 · 1 min read

कदर न हुई

जब तक रहे बन्दिशों मे कदर न हुई
हुई कदर भी यूँ की कोई खबर न हुई
****************************
मिलती रही हैं यूं दुश्वारियां हमसे कि
मिली ख़ुशी तो ख़ुशी पल भर न हुई
****************************
कपिल कुमार
29/07/2016

158 Views
You may also like:
एक दौर था हम भी आशिक हुआ करते थे
Krishan Singh
क्यों ना नये अनुभवों को अब साथ करें?
Manisha Manjari
मेरे पापा...
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
सिया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
//स्वागत है:२०२२//
Prabhudayal Raniwal
✍️✍️बूद✍️✍️
"अशांत" शेखर
*अध्यात्म ज्योति :* अंक 1 ,वर्ष 55, प्रयागराज जनवरी -...
Ravi Prakash
कभी कभी।
Taj Mohammad
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
ना कर गुरुर जिंदगी पर इतना भी
VINOD KUMAR CHAUHAN
हम हर गम छुपा लेते हैं।
Taj Mohammad
✍️तो ऐसा नहीं होता✍️
"अशांत" शेखर
मौसम बदल रहा है
Anamika Singh
You are my life.
Taj Mohammad
✍️कबीरा बोल...✍️
"अशांत" शेखर
चलो जिन्दगी को फिर से।
Taj Mohammad
शब्दों के एहसास गुम से जाते हैं।
Manisha Manjari
शायद मैं गलत हूँ...
मनोज कर्ण
आत्महत्या क्यों ?
Anamika Singh
बारिश हमसे रूढ़ गई
Dr. Alpa H. Amin
✍️✍️नींद✍️✍️
"अशांत" शेखर
जाति- पाति, भेद- भाव
AMRESH KUMAR VERMA
जीवन
vikash Kumar Nidan
दिल से निकले हुए कुछ मुक्तक
Ram Krishan Rastogi
कर्म ही पूजा है।
Anamika Singh
तुम और मैं
Ram Krishan Rastogi
अश्रुपात्र... A glass of tears भाग - 4
Dr. Meenakshi Sharma
कृष्ण पक्ष// गीत
Shiva Awasthi
मंजिले जुस्तजू
Vikas Sharma'Shivaaya'
तूँ ही गजल तूँ ही नज़्म तूँ ही तराना है...
VINOD KUMAR CHAUHAN
Loading...