Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2017 · 1 min read

कदम और कदम घोलकर विष बातों में पिलाते रहे

कदम और कदम घोलकर विष
बातों में पिलाते रहे,
हम भी विष पीते रहे,और उक़ूबत में भी सदा मुस्कुराते रहे।
सब यूँ ही आज़माते रहे,रिसती नौका को हम भी आहिस्ता आहिस्ता बढ़ाते रहे।
अकसर गम्मान आते रहे, ज़हीर बनकर शत्रुता निभाते रहे।
कदम और कदम इम्तिहां होता रहा, कदम और कदम खुद को स्वांरते रहे।
तोहफ़ा समझकर, हम भी मुस्कुराते रहे।
आरोप लगाते रहे,हम भी नूर बनकर जगमागते रहे।
कारवाँ ऐसे ही चलता रहा
हमे भी तजुर्बा मिलता रहा
सदा नुसर्त का सिलसिला चलता रहा

भूपेंद्र रावत
4।01।2017

गम्मान=भेदिया, चुगलबाज़
ज़हीर=मित्र,साथी
नुसर्त=विजय

Language: Hindi
1 Like · 378 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम ने हम को जितने  भी  गम दिये।
तुम ने हम को जितने भी गम दिये।
Surinder blackpen
नये अमीर हो तुम
नये अमीर हो तुम
Shivkumar Bilagrami
बैठा हूँ उस राह पर जो मेरी मंजिल नहीं
बैठा हूँ उस राह पर जो मेरी मंजिल नहीं
Pushpraj Anant
अपनों को नहीं जब हमदर्दी
अपनों को नहीं जब हमदर्दी
gurudeenverma198
"सार"
Dr. Kishan tandon kranti
GOOD EVENING....…
GOOD EVENING....…
Neeraj Agarwal
वो कहते हैं की आंसुओ को बहाया ना करो
वो कहते हैं की आंसुओ को बहाया ना करो
The_dk_poetry
हम आज भी
हम आज भी
Dr fauzia Naseem shad
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
राम छोड़ ना कोई हमारे..
राम छोड़ ना कोई हमारे..
Vijay kumar Pandey
हम साथ साथ चलेंगे
हम साथ साथ चलेंगे
Kavita Chouhan
Be happy with the little that you have, there are people wit
Be happy with the little that you have, there are people wit
पूर्वार्थ
*माँ : दस दोहे*
*माँ : दस दोहे*
Ravi Prakash
“ फेसबूक मित्रों की नादानियाँ ”
“ फेसबूक मित्रों की नादानियाँ ”
DrLakshman Jha Parimal
डॉ. नामवर सिंह की दृष्टि में कौन-सी कविताएँ गम्भीर और ओजस हैं??
डॉ. नामवर सिंह की दृष्टि में कौन-सी कविताएँ गम्भीर और ओजस हैं??
कवि रमेशराज
🌹⚘2220.
🌹⚘2220.
Dr.Khedu Bharti
■अहम सवाल■
■अहम सवाल■
*Author प्रणय प्रभात*
मां
मां
Dr Parveen Thakur
मरहटा छंद
मरहटा छंद
Subhash Singhai
वर्षा का भेदभाव
वर्षा का भेदभाव
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान : कर्नल सी. के. नायडू
भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान : कर्नल सी. के. नायडू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
नागिन
नागिन
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
मानवता है धर्म सत,रखें सभी हम ध्यान।
मानवता है धर्म सत,रखें सभी हम ध्यान।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
व्यवहार अपना
व्यवहार अपना
Ranjeet kumar patre
रिश्तों का गणित
रिश्तों का गणित
Madhavi Srivastava
मुस्कान
मुस्कान
नवीन जोशी 'नवल'
विषय मेरा आदर्श शिक्षक
विषय मेरा आदर्श शिक्षक
कार्तिक नितिन शर्मा
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
माँ
माँ
meena singh
अब कहाँ मौत से मैं डरता हूँ
अब कहाँ मौत से मैं डरता हूँ
प्रीतम श्रावस्तवी
Loading...