Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Aug 2023 · 1 min read

कतौता

कतौता – एक जापानी काव्य रूप जिसमें 17 या 19 शब्दांश होते हैं जो 5, 7, और 5 या 5, 7, और 7 अक्षरों की तीन पंक्तियों में व्यवस्थित होते हैं। इस फॉर्म का उपयोग प्रेमी को संबोधित कविताओं के लिए किया जाता था, और एक कटौता को अधूरी या आधी कविता माना जाता था। 5,7,7 प्रकार के कटौटा की एक जोड़ी को सेडोका कहा जाता था ।
आज इसी को सीखकर छोटा सा प्रयास✍️ किया है👇

अधर दीर्ण,
रति-रात का चिह्न,
परंतु परिपूर्ण।

अद्वैत भाव,
अनुराग- पराग,
प्रेम तरु के फल।

मैं सजती हूं,
ख्वाबों में ,अचेत-सी,
पिया के आगोश में।
बरसात ने,
रस बरसाया तो,
सरस हुआ मन।

कल लबों से,
लव यू सुना मैंने,
नई है ये दुनियां।।

मेरी रचना😍
##कतौता जापानी कविताएँ और साहित्य ।।#जापानी कविता शैली।।

210 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
छिपकली बन रात को जो, मस्त कीड़े खा रहे हैं ।
छिपकली बन रात को जो, मस्त कीड़े खा रहे हैं ।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
We make Challenges easy and
We make Challenges easy and
Bhupendra Rawat
आइन-ए-अल्फाज
आइन-ए-अल्फाज
AJAY AMITABH SUMAN
धर्म
धर्म
पंकज कुमार कर्ण
जीवन साथी
जीवन साथी
Aman Sinha
23/194. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/194. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दीप की अभिलाषा।
दीप की अभिलाषा।
Kuldeep mishra (KD)
अस्तित्व की ओट?🧤☂️
अस्तित्व की ओट?🧤☂️
डॉ० रोहित कौशिक
अपना यह गणतन्त्र दिवस, ऐसे हम मनायें
अपना यह गणतन्त्र दिवस, ऐसे हम मनायें
gurudeenverma198
*कहो हम शस्त्र लेकर वंचितों के साथ आए हैं (मुक्तक)*
*कहो हम शस्त्र लेकर वंचितों के साथ आए हैं (मुक्तक)*
Ravi Prakash
जिंदगी के तराने
जिंदगी के तराने
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
खो गई जो किर्ति भारत की उसे वापस दिला दो।
खो गई जो किर्ति भारत की उसे वापस दिला दो।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
जहर मे भी इतना जहर नही होता है,
जहर मे भी इतना जहर नही होता है,
Ranjeet kumar patre
अपनी हसरत अपने दिल में दबा कर रखो
अपनी हसरत अपने दिल में दबा कर रखो
पूर्वार्थ
तुम पलाश मैं फूल तुम्हारा।
तुम पलाश मैं फूल तुम्हारा।
Dr. Seema Varma
अधूरे ख्वाब
अधूरे ख्वाब
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
"सौदा"
Dr. Kishan tandon kranti
"तेरे लिए.." ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
"ढाई अक्षर प्रेम के"
Ekta chitrangini
करें आराधना मां की, आ गए नौ दिन शक्ति के।
करें आराधना मां की, आ गए नौ दिन शक्ति के।
umesh mehra
■ पाठक बचे न श्रोता।
■ पाठक बचे न श्रोता।
*Author प्रणय प्रभात*
दिलों में प्यार भी होता, तेरा मेरा नहीं होता।
दिलों में प्यार भी होता, तेरा मेरा नहीं होता।
सत्य कुमार प्रेमी
तलाशता हूँ उस
तलाशता हूँ उस "प्रणय यात्रा" के निशाँ
Atul "Krishn"
यक्षिणी / MUSAFIR BAITHA
यक्षिणी / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
प्यार है,पावन भी है ।
प्यार है,पावन भी है ।
Dr. Man Mohan Krishna
वो लुका-छिपी वो दहकता प्यार—
वो लुका-छिपी वो दहकता प्यार—
Shreedhar
कूल नानी
कूल नानी
Neelam Sharma
💐प्रेम कौतुक-342💐
💐प्रेम कौतुक-342💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दुनिया एक मेला है
दुनिया एक मेला है
VINOD CHAUHAN
सावधानी हटी दुर्घटना घटी
सावधानी हटी दुर्घटना घटी
Sanjay ' शून्य'
Loading...