Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Jan 2024 · 1 min read

कंटक जीवन पथ के राही

कंटक जीवन पथ के राही

कंटक जीवन पथ के राही,लड़ कर पथ पर बढ़ना होगा।
कठिनाई पर पलने वाले,राही निज को गढ़ना होगा।
द्रोण नहीं सबको मिलते हैं,भीष्म नहीं सबको गढ़ते हैं।
परशुराम से क्या हो याचन,श्राप दया में हीं मिलते हैं।
तू खुद से हीं ध्यान लगाकर,निज हीं निज संधान चढ़ाकर।
जीवन पथ पर चलने वाले,जीवन पथ रण लड़ना होगा।
ऐसे तुझको चढ़ना होगा,ऐसे खुद को गढ़ना होगा।

अजय अमिताभ सुमन

96 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
युद्ध के बाद
युद्ध के बाद
लक्ष्मी सिंह
ठण्डी राख़ - दीपक नीलपदम्
ठण्डी राख़ - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
■ सावधान...
■ सावधान...
*Author प्रणय प्रभात*
प्यार के बारे में क्या?
प्यार के बारे में क्या?
Otteri Selvakumar
पुराना कुछ भूलने के लिए,
पुराना कुछ भूलने के लिए,
पूर्वार्थ
सच
सच
Neeraj Agarwal
जब भी मनचाहे राहों ने रुख मोड़ लिया
जब भी मनचाहे राहों ने रुख मोड़ लिया
'अशांत' शेखर
हमारे प्यार का आलम,
हमारे प्यार का आलम,
Satish Srijan
समय गुंगा नाही बस मौन हैं,
समय गुंगा नाही बस मौन हैं,
Sampada
जीवन समर्पित करदो.!
जीवन समर्पित करदो.!
Prabhudayal Raniwal
-मंहगे हुए टमाटर जी
-मंहगे हुए टमाटर जी
Seema gupta,Alwar
दूसरे दर्जे का आदमी
दूसरे दर्जे का आदमी
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
🚩एकांत महान
🚩एकांत महान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मेरी चाहत
मेरी चाहत
umesh mehra
रम्भा की ‘मी टू’
रम्भा की ‘मी टू’
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Bundeli Doha by Rajeev Namdeo Rana lidhorI
Bundeli Doha by Rajeev Namdeo Rana lidhorI
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
*......इम्तहान बाकी है.....*
*......इम्तहान बाकी है.....*
Naushaba Suriya
जीवन की इतने युद्ध लड़े
जीवन की इतने युद्ध लड़े
ruby kumari
2518.पूर्णिका
2518.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
हमने भी ज़िंदगी को
हमने भी ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
भाई बहन का प्रेम
भाई बहन का प्रेम
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
10) पूछा फूल से..
10) पूछा फूल से..
पूनम झा 'प्रथमा'
लब्ज़ परखने वाले अक्सर,
लब्ज़ परखने वाले अक्सर,
ओसमणी साहू 'ओश'
*****नियति*****
*****नियति*****
Kavita Chouhan
क्या लिखूँ....???
क्या लिखूँ....???
Kanchan Khanna
🌷 सावन तभी सुहावन लागे 🌷
🌷 सावन तभी सुहावन लागे 🌷
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
💐प्रेम कौतुक-385💐
💐प्रेम कौतुक-385💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
राम अवध के
राम अवध के
Sanjay ' शून्य'
मुझे भी आकाश में उड़ने को मिले पर
मुझे भी आकाश में उड़ने को मिले पर
Charu Mitra
स्कूल कॉलेज
स्कूल कॉलेज
RAKESH RAKESH
Loading...