Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Sep 2016 · 1 min read

==* औकात ये है अपनी *==

तू मंदिर मैं मस्ज़िद
तू चर्च मैं विहार
तू ये तू वो मैं ये मैं वो
धर्म का बाजार
औकात ये है अपनी ………

सिखा अब तलक जो
बड़ो ने ही पढ़ाई है
तीव्र गती से अब
बढ़ रही तबाही है
औकात ये है अपनी ………

अच्छा न बोले कोई
हर कोई लाचार है
मिडिया भी क्या देखे
खबरों का बाजार है
औकात ये है अपनी ………

राजनीती स्वार्थ भरी ये
नेतागन बातूने सारे
बलगलाते गरीब को
गरीब करे क्या बेचारे
औकात ये है अपनी ………

गरीब की नौटंकी देखो
सुविधाये पचती नहीं है
चाय के टपरी पर बाते
किस्मत क्यू बनती नही है
औकात ये है अपनी ………

लाज शरम सब छोड़ गई
कपड़ो की परिभाषा
बलात्कार का ट्रेंड चला है
निर्भया कभी ये आशा
औकात ये है अपनी ………

हर कोई बातों में लगा है
सच्चाई को मोल नही है
झूठ की तेज धार है यारो
सच की तो औकात नही है
औकात ये है अपनी ………

खंजर गोली का है जमाना
कलम की धार नही है
देश चला विकास करने
पर पूरा आधार नही है
औकात ये है अपनी ………

बातों का अंबार यहाँ पर
एकता का द्वार नही है
हर तरफ बस मैं ही मैं हूँ
हम का व्यवहार नही है
औकात ये है अपनी ………
———–//***–
शशिकांत शांडिले (एकांत),नागपुर
भ्र.९९७५९९५४५०

Language: Hindi
384 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नजरिया-ए-नील पदम्
नजरिया-ए-नील पदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
हालात पर फ़तह की तैयारी कीजिए।
हालात पर फ़तह की तैयारी कीजिए।
Ashwini sharma
Which have the power to take rebirth like the phoenix, whose power no one can ever match.
Which have the power to take rebirth like the phoenix, whose power no one can ever match.
Manisha Manjari
हंसते ज़ख्म
हंसते ज़ख्म
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
जली आग में होलिका ,बचे भक्त प्रहलाद ।
जली आग में होलिका ,बचे भक्त प्रहलाद ।
Rajesh Kumar Kaurav
लहर-लहर दीखे बम लहरी, बम लहरी
लहर-लहर दीखे बम लहरी, बम लहरी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हमे भी इश्क हुआ
हमे भी इश्क हुआ
The_dk_poetry
वंदना
वंदना
Rashmi Sanjay
सफ़र आसान हो जाए मिले दोस्त ज़बर कोई
सफ़र आसान हो जाए मिले दोस्त ज़बर कोई
आर.एस. 'प्रीतम'
जिंदगी
जिंदगी
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
"मछली और भालू"
Dr. Kishan tandon kranti
चार साहबजादे
चार साहबजादे
Satish Srijan
होता अगर पैसा पास हमारे
होता अगर पैसा पास हमारे
gurudeenverma198
समय और स्वास्थ्य के असली महत्त्व को हम तब समझते हैं जब उसका
समय और स्वास्थ्य के असली महत्त्व को हम तब समझते हैं जब उसका
Paras Nath Jha
■ अहमक़ आईने का सस्ता इलाज...
■ अहमक़ आईने का सस्ता इलाज...
*Author प्रणय प्रभात*
*लगता है अक्सर फँसे ,दुनिया में बेकार (कुंडलिया)*
*लगता है अक्सर फँसे ,दुनिया में बेकार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
सावन म वैशाख समा गे
सावन म वैशाख समा गे
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
2694.*पूर्णिका*
2694.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
भले ही तुम कड़वे नीम प्रिय
भले ही तुम कड़वे नीम प्रिय
Ram Krishan Rastogi
जीवन  आगे बढ़  गया, पीछे रह गए संग ।
जीवन आगे बढ़ गया, पीछे रह गए संग ।
sushil sarna
कुंडलिया छंद
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
स्वतंत्रता दिवस
स्वतंत्रता दिवस
Dr Archana Gupta
✍️माँ ✍️
✍️माँ ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
दिवाली शुभ होवे
दिवाली शुभ होवे
Vindhya Prakash Mishra
*बूढ़े होने पर भी अपनी बुद्धि को तेज रखना चाहते हैं तो अपनी
*बूढ़े होने पर भी अपनी बुद्धि को तेज रखना चाहते हैं तो अपनी
Shashi kala vyas
मसल कर कली को
मसल कर कली को
Pratibha Pandey
सांप्रदायिक राजनीति
सांप्रदायिक राजनीति
Shekhar Chandra Mitra
दो का पहाडा़
दो का पहाडा़
Rituraj shivem verma
साक्षात्कार:- कृषि क्षेत्र के हित के लिए
साक्षात्कार:- कृषि क्षेत्र के हित के लिए "आईएएस" के तर्ज पर "भारतीय कृषि अधिकारी सेवा" के गठन की जरूरत - डॉक्टर राजाराम त्रिपाठी
Deepak Kumar Tyagi
Loading...