Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Dec 2023 · 1 min read

#एक_और_बरसी

#एक_और_बरसी
■ जांबाज़ शहीदों व जवानों को नमन्।
आज 13 दिसम्बर है। देश के इतिहास का एक काला व त्रासदीपूर्ण दिन।। पूरे 22 साल पहले आज ही के दिन लोकतंत्र के मंदिर संसद भवन पर पाकिस्तानी आतंकवादियों ने हमला बोला था। जिसे सुरक्षा में तैनात हमारे साहसी व सजग जवानों ने अदम्य शौर्य का परिचय देते हुए नाकाम कर दिया था। इस दौरान कुछ जवानों के सर्वोच्च बलिदान का दंश भी देश ने भोगा। आइए, हम शहीदों व जवानों की शहादत व जांबाज़ी को दिल से सलाम करें। जय हिंद, जय भारत। वन्दे मातरम।।
■प्रणय प्रभात■
●संपादक/न्यूज़&व्यूज़●
श्योपुर (मध्यप्रदेश)

1 Like · 103 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
इतना तो अधिकार हो
इतना तो अधिकार हो
Dr fauzia Naseem shad
परमात्मा से अरदास
परमात्मा से अरदास
Rajni kapoor
शहीद की पत्नी
शहीद की पत्नी
नन्दलाल सुथार "राही"
पहचाना सा एक चेहरा
पहचाना सा एक चेहरा
Aman Sinha
आज के बच्चों की बदलती दुनिया
आज के बच्चों की बदलती दुनिया
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
माँ का एहसास
माँ का एहसास
Buddha Prakash
प्रकृति ने अंँधेरी रात में चांँद की आगोश में अपने मन की सुंद
प्रकृति ने अंँधेरी रात में चांँद की आगोश में अपने मन की सुंद
Neerja Sharma
सोना बोलो है कहाँ, बोला मुझसे चोर।
सोना बोलो है कहाँ, बोला मुझसे चोर।
आर.एस. 'प्रीतम'
बहुत कुछ अधूरा रह जाता है ज़िन्दगी में
बहुत कुछ अधूरा रह जाता है ज़िन्दगी में
शिव प्रताप लोधी
"एक हकीकत"
Dr. Kishan tandon kranti
■एक टिकट : सौ निकट■
■एक टिकट : सौ निकट■
*Author प्रणय प्रभात*
*जीवन में जब कठिन समय से गुजर रहे हो,जब मन बैचेन अशांत हो गय
*जीवन में जब कठिन समय से गुजर रहे हो,जब मन बैचेन अशांत हो गय
Shashi kala vyas
"*पिता*"
Radhakishan R. Mundhra
पहाड़ों की हंसी ठिठोली
पहाड़ों की हंसी ठिठोली
Shankar N aanjna
सत्ता परिवर्तन
सत्ता परिवर्तन
Bodhisatva kastooriya
कोई तो है
कोई तो है
ruby kumari
*भागे दुनिया हर कहीं, गली देस परदेस (कुंडलिया)*
*भागे दुनिया हर कहीं, गली देस परदेस (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मिस्टर जी आजाद
मिस्टर जी आजाद
gurudeenverma198
गंवई गांव के गोठ
गंवई गांव के गोठ
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
'मरहबा ' ghazal
'मरहबा ' ghazal
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मुझे वो एक शख्स चाहिये ओर उसके अलावा मुझे ओर किसी का होना भी
मुझे वो एक शख्स चाहिये ओर उसके अलावा मुझे ओर किसी का होना भी
yuvraj gautam
बस तेरे हुस्न के चर्चे वो सुबो कार बहुत हैं ।
बस तेरे हुस्न के चर्चे वो सुबो कार बहुत हैं ।
Phool gufran
बात
बात
Shyam Sundar Subramanian
मृतशेष
मृतशेष
AJAY AMITABH SUMAN
दोहे- माँ है सकल जहान
दोहे- माँ है सकल जहान
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
2493.पूर्णिका
2493.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
खिड़कियां हवा और प्रकाश को खींचने की एक सुगम यंत्र है।
खिड़कियां हवा और प्रकाश को खींचने की एक सुगम यंत्र है।
Rj Anand Prajapati
अंबेडकर और भगतसिंह
अंबेडकर और भगतसिंह
Shekhar Chandra Mitra
घर और घर की याद
घर और घर की याद
डॉ० रोहित कौशिक
Safed panne se rah gayi h meri jindagi
Safed panne se rah gayi h meri jindagi
Sakshi Tripathi
Loading...