Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

” एक हद के बाद”

मेरी चुप्पी को सब यहां
मेरी कमजोरी समझते हैं
रहूं खामोश गर मैं तो
सब ग़लती समझते हैं

रहें जो साथ मिलकर सब
तो रिश्ते खूब चलते हैं
जहां हद पार होती है
वहां रिश्ते बिखरते हैं

जब धैर्य की सारी
सीमाएं टूट जाती हैं ,
वहां तब अदब करने की
वजह सब छूट जाती है

ए रिश्ते फूल से कोमल
अहम में आके न तोड़ो
बंधे हैं कच्ची डाली से
इन्हें तुम प्यार से रख्खो

लगाया जोर जोर इन पर
तो रिश्ता टूट जाएगा
घमंड में आके जो खींचा
तो धागा टूट जाएगा

क्योंकि जब हद पार होती है
तब रिश्ता टूट जाता हैं
जो नजरों से उतर जाए
न उसका मान हो पाता

रूबी चेतन शुक्ला
अलीगंज
लखनऊ

6 Likes · 10 Comments · 241 Views
You may also like:
✍️छांव और धुप✍️
'अशांत' शेखर
*कृष्ण जैसा मित्र होना चाहिए (मुक्तक)*
Ravi Prakash
✍️सियासत✍️
'अशांत' शेखर
हमने हंसना चाहा।
Taj Mohammad
समय और रिश्ते।
Anamika Singh
गन्ना जी ! गन्ना जी !
Buddha Prakash
कोशिश
Shyam Sundar Subramanian
*मृदुभाषी श्री ऊदल सिंह जी : शत-शत नमन*
Ravi Prakash
मानवता
Dr.sima
*** तेरी पनाह.....!!! ***
VEDANTA PATEL
पत्ते ने अगर अपना रंग न बदला होता
Dr.Alpa Amin
नव भारत
पाण्डेय चिदानन्द
किंकर्तव्यविमूढ़
Shyam Sundar Subramanian
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
प्रार्थना(कविता)
श्रीहर्ष आचार्य
छाँव पिता की
Shyam Tiwari
जिसको चुराया है उसने तुमसे
gurudeenverma198
चेहरा
शिव प्रताप लोधी
सच
दुष्यन्त 'बाबा'
.✍️वो थे इसीलिये हम है...✍️
'अशांत' शेखर
सहारा हो तो पक्का हो किसी को।
सत्य कुमार प्रेमी
हमनें नज़रें अदब से झुका ली।
Taj Mohammad
💐💐परमात्मा इन्द्रियादिभि: परेय💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*डॉक्टर भूपति शर्मा जोशी की कुंडलियाँ : एक अध्ययन*
Ravi Prakash
मुंशी प्रेमचंद, एक प्रेरणा स्त्रोत
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
धारण कर सत् कोयल के गुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मेरे पापा।
Taj Mohammad
कौन है
Rakesh Pathak Kathara
कोशिश
Anamika Singh
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
Loading...