Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Nov 2022 · 1 min read

एक लम्हा मेरी मर्ज़ी के

एक लम्हा मेरी मर्जी के मुताबिक रख लें।
चाहिए तुझको ग़र तू जमाना रख ले ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
11 Likes · 182 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
वक्त सा गुजर गया है।
वक्त सा गुजर गया है।
Taj Mohammad
*
*"हिंदी"*
Shashi kala vyas
कल आज और कल
कल आज और कल
Omee Bhargava
क्यों पढ़ा नहीं भूगोल?
क्यों पढ़ा नहीं भूगोल?
AJAY AMITABH SUMAN
💐💐कुण्डलिया निवेदन💐💐
💐💐कुण्डलिया निवेदन💐💐
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
इन चरागों का कोई मक़सद भी है
इन चरागों का कोई मक़सद भी है
Shweta Soni
इतने बीमार
इतने बीमार
Dr fauzia Naseem shad
"संविधान"
Slok maurya "umang"
क्रूरता की हद पार
क्रूरता की हद पार
Mamta Rani
.........?
.........?
शेखर सिंह
दुनिया का क्या दस्तूर बनाया, मरे तो हि अच्छा बतलाया
दुनिया का क्या दस्तूर बनाया, मरे तो हि अच्छा बतलाया
Anil chobisa
चक्षु द्वय काजर कोठरी , मोती अधरन बीच ।
चक्षु द्वय काजर कोठरी , मोती अधरन बीच ।
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
■ आंसू माने भेदिया।
■ आंसू माने भेदिया।
*Author प्रणय प्रभात*
थी हवा ख़ुश्क पर नहीं सूखे - संदीप ठाकुर
थी हवा ख़ुश्क पर नहीं सूखे - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
3139.*पूर्णिका*
3139.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मेरी पायल की वो प्यारी सी तुम झंकार जैसे हो,
मेरी पायल की वो प्यारी सी तुम झंकार जैसे हो,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
श्रोता के जूते
श्रोता के जूते
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
ऐ दिल तु ही बता दे
ऐ दिल तु ही बता दे
Ram Krishan Rastogi
मोहब्ब्बत के रंग तुम पर बरसा देंगे आज,
मोहब्ब्बत के रंग तुम पर बरसा देंगे आज,
Shubham Pandey (S P)
कुंती कान्हा से कहा,
कुंती कान्हा से कहा,
Satish Srijan
धानी चूनर में लिपटी है धरती जुलाई में
धानी चूनर में लिपटी है धरती जुलाई में
Anil Mishra Prahari
युवा संवाद
युवा संवाद
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
गूंजेगा नारा जय भीम का
गूंजेगा नारा जय भीम का
Shekhar Chandra Mitra
रेलयात्रा- एक यादगार सफ़र
रेलयात्रा- एक यादगार सफ़र
Mukesh Kumar Sonkar
स्कूल चलो
स्कूल चलो
Dr. Pradeep Kumar Sharma
काला न्याय
काला न्याय
Anil chobisa
कृष्णा सोबती के उपन्यास 'समय सरगम' में बहुजन समाज के प्रति पूर्वग्रह : MUSAFIR BAITHA
कृष्णा सोबती के उपन्यास 'समय सरगम' में बहुजन समाज के प्रति पूर्वग्रह : MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
"विश्व हिन्दी दिवस"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...