Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Sep 2022 · 1 min read

उसने कहा था

कहा था उसने
नदी मत बनना तुम
अक्सर खो देती हैं
नदियाँ अपना अस्तित्व
समुद्र के साथ मिल कर
बनना अपने आकाश का
ध्रुव तारा तुम
जो है अटल
अनंत सदियों तक..

Language: Hindi
3 Likes · 206 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
They say,
They say, "Being in a relationship distracts you from your c
पूर्वार्थ
मित्र
मित्र
लक्ष्मी सिंह
उम्मीद -ए- दिल
उम्मीद -ए- दिल
Shyam Sundar Subramanian
-- अंधभक्ति का चैम्पियन --
-- अंधभक्ति का चैम्पियन --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
कोई दरिया से गहरा है
कोई दरिया से गहरा है
कवि दीपक बवेजा
दोहा- दिशा
दोहा- दिशा
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
*मन न जाने कहां कहां भटकते रहता है स्थिर नहीं रहता है।चंचल च
*मन न जाने कहां कहां भटकते रहता है स्थिर नहीं रहता है।चंचल च
Shashi kala vyas
नववर्ष का आगाज़
नववर्ष का आगाज़
Vandna Thakur
Love night
Love night
Bidyadhar Mantry
मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Dr Archana Gupta
होने नहीं दूंगा साथी
होने नहीं दूंगा साथी
gurudeenverma198
रिश्ते
रिश्ते
Ram Krishan Rastogi
शिव आराध्य राम
शिव आराध्य राम
Pratibha Pandey
अंताक्षरी पिरामिड तुक्तक
अंताक्षरी पिरामिड तुक्तक
Subhash Singhai
करवाचौथ
करवाचौथ
Neeraj Agarwal
ये कैसा घर है. . .
ये कैसा घर है. . .
sushil sarna
pita
pita
Dr.Pratibha Prakash
3060.*पूर्णिका*
3060.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जिंदगी एक सफर सुहाना है
जिंदगी एक सफर सुहाना है
Suryakant Dwivedi
"इंसान"
Dr. Kishan tandon kranti
*उपजा पाकिस्तान, शब्द कैसे क्यों आया* *(कुंडलिया)*
*उपजा पाकिस्तान, शब्द कैसे क्यों आया* *(कुंडलिया)*
Ravi Prakash
वक्त का सिलसिला बना परिंदा
वक्त का सिलसिला बना परिंदा
Ravi Shukla
दिल से दिल गर नहीं मिलाया होली में।
दिल से दिल गर नहीं मिलाया होली में।
सत्य कुमार प्रेमी
😊आज का दोहा😊
😊आज का दोहा😊
*Author प्रणय प्रभात*
"शायरा सँग होली"-हास्य रचना
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
आज फिर दर्द के किस्से
आज फिर दर्द के किस्से
Shailendra Aseem
पत्नी के डबल रोल
पत्नी के डबल रोल
Slok maurya "umang"
दूसरों को समझने से बेहतर है खुद को समझना । फिर दूसरों को समझ
दूसरों को समझने से बेहतर है खुद को समझना । फिर दूसरों को समझ
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
* तुम न मिलती *
* तुम न मिलती *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अच्छा लगना
अच्छा लगना
Madhu Shah
Loading...