Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Feb 2024 · 1 min read

उजले ख्वाब।

कुछ उजले ख्वाब देखे है मेरी नजरों ने।
वफा का वादा किया है वक्त के लम्हों ने।।1।।

फिरसे जीने की तमन्ना दिल में जागी हैं।
अंधेरा मिटा है नई सुबह की किरणों से।।2।।

चलो मिलकर फिर से आबाद करते है।
जो बस्तियां जली थी फसाद के दंगों में।।3।।

ढूंढके लाते हैं हमसब खुशियां जीने में।
इस जिंदगी को अबना जीना किश्तों में।।4।।

चाहत में अब कहां दीवानगी मिलती है।
मुहब्बत भी शामिल हुई है अब धंधों में।।5।।

छोटा था बेतजुर्बेदार था फिरभी उसने।
जिम्मेदारियां उठा ली है अपने कंधों पे।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

27 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मुझसे गुस्सा होकर
मुझसे गुस्सा होकर
Mr.Aksharjeet
संकल्प
संकल्प
Dr. Pradeep Kumar Sharma
भले ही शरीर में खून न हो पर जुनून जरूर होना चाहिए।
भले ही शरीर में खून न हो पर जुनून जरूर होना चाहिए।
Rj Anand Prajapati
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
जगदीश शर्मा सहज
Nothing you love is lost. Not really. Things, people—they al
Nothing you love is lost. Not really. Things, people—they al
पूर्वार्थ
मुफलिसो और बेकशों की शान में मेरा ईमान बोलेगा।
मुफलिसो और बेकशों की शान में मेरा ईमान बोलेगा।
Phool gufran
सूर्यदेव
सूर्यदेव
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
23/23.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/23.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ग़ज़ल _ मिरी #मैयत पे  रोने मे.....
ग़ज़ल _ मिरी #मैयत पे  रोने मे.....
शायर देव मेहरानियां
डुगडुगी बजती रही ....
डुगडुगी बजती रही ....
sushil sarna
हाइकु haiku
हाइकु haiku
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
प्रेम में डूब जाने वाले,
प्रेम में डूब जाने वाले,
Buddha Prakash
इंसान की सूरत में
इंसान की सूरत में
Dr fauzia Naseem shad
■ लोक संस्कृति का पर्व : गणगौर
■ लोक संस्कृति का पर्व : गणगौर
*Author प्रणय प्रभात*
दीप जलते रहें - दीपक नीलपदम्
दीप जलते रहें - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
अच्छा लगने लगा है उसे
अच्छा लगने लगा है उसे
Vijay Nayak
*सजा- ए – मोहब्बत *
*सजा- ए – मोहब्बत *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पहला प्यार - अधूरा खाब
पहला प्यार - अधूरा खाब
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जाने वाले साल को सलाम ,
जाने वाले साल को सलाम ,
Dr. Man Mohan Krishna
मां की अभिलाषा
मां की अभिलाषा
RAKESH RAKESH
थोड़ा पैसा कमाने के लिए दूर क्या निकले पास वाले दूर हो गये l
थोड़ा पैसा कमाने के लिए दूर क्या निकले पास वाले दूर हो गये l
Ranjeet kumar patre
"किनारे से"
Dr. Kishan tandon kranti
गाँव की याद
गाँव की याद
Rajdeep Singh Inda
करते तो ख़ुद कुछ नहीं, टांग खींचना काम
करते तो ख़ुद कुछ नहीं, टांग खींचना काम
Dr Archana Gupta
बाबा साहब आम्बेडकर
बाबा साहब आम्बेडकर
Aditya Prakash
"आकुलता"- गीत
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
*तेरा इंतज़ार*
*तेरा इंतज़ार*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
।। धन तेरस ।।
।। धन तेरस ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
रुई-रुई से धागा बना
रुई-रुई से धागा बना
TARAN VERMA
रक्षा में हत्या / मुसाफ़िर बैठा
रक्षा में हत्या / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
Loading...