Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Apr 2024 · 1 min read

इश्क

इश्क बेपनाह

40 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मैं मजदूर हूं
मैं मजदूर हूं
हरवंश हृदय
तलाशी लेकर मेरे हाथों की क्या पा लोगे तुम
तलाशी लेकर मेरे हाथों की क्या पा लोगे तुम
शेखर सिंह
* वक्त  ही वक्त  तन में रक्त था *
* वक्त ही वक्त तन में रक्त था *
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
*जो लूॅं हर सॉंस उसका स्वर, अयोध्या धाम बन जाए (मुक्तक)*
*जो लूॅं हर सॉंस उसका स्वर, अयोध्या धाम बन जाए (मुक्तक)*
Ravi Prakash
मेरी नाव
मेरी नाव
Juhi Grover
Ram
Ram
Sanjay ' शून्य'
प्रेम निवेश है-2❤️
प्रेम निवेश है-2❤️
Rohit yadav
जीवन में कोई भी फैसला लें
जीवन में कोई भी फैसला लें
Dr fauzia Naseem shad
"हमारे नेता "
DrLakshman Jha Parimal
दोहा त्रयी . . . .
दोहा त्रयी . . . .
sushil sarna
Dr Arun Kumar Shastri
Dr Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
शिक्षक और शिक्षा के साथ,
शिक्षक और शिक्षा के साथ,
Neeraj Agarwal
मेरी प्रीत जुड़ी है तुझ से
मेरी प्रीत जुड़ी है तुझ से
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
तितली संग बंधा मन का डोर
तितली संग बंधा मन का डोर
goutam shaw
चिन्ता और चिता मे अंतर
चिन्ता और चिता मे अंतर
Ram Krishan Rastogi
मना लिया नव बर्ष, काम पर लग जाओ
मना लिया नव बर्ष, काम पर लग जाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सौन्दर्य के मक़बूल, इश्क़! तुम क्या जानो प्रिय ?
सौन्दर्य के मक़बूल, इश्क़! तुम क्या जानो प्रिय ?
Varun Singh Gautam
*घर*
*घर*
Dushyant Kumar
चंद अशआर
चंद अशआर
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
"परवाज"
Dr. Kishan tandon kranti
सुना है सकपने सच होते हैं-कविता
सुना है सकपने सच होते हैं-कविता
Shyam Pandey
सब्र का बांँध यदि टूट गया
सब्र का बांँध यदि टूट गया
Buddha Prakash
सुरसा-सी नित बढ़ रही, लालच-वृत्ति दुरंत।
सुरसा-सी नित बढ़ रही, लालच-वृत्ति दुरंत।
डॉ.सीमा अग्रवाल
अपनापन
अपनापन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
■ हिंदी सप्ताह के समापन पर ■
■ हिंदी सप्ताह के समापन पर ■
*Author प्रणय प्रभात*
वसंत पंचमी
वसंत पंचमी
Dr. Upasana Pandey
मुझे भी जीने दो (भ्रूण हत्या की कविता)
मुझे भी जीने दो (भ्रूण हत्या की कविता)
Dr. Kishan Karigar
2575.पूर्णिका
2575.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
डर होता है
डर होता है
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
*ऐसा युग भी आएगा*
*ऐसा युग भी आएगा*
Harminder Kaur
Loading...