Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jan 2024 · 1 min read

इम्तिहान

इम्तिहान बहुत हैं
जिंदगी में,
कदम दर कदम।
इम्तिहानों से
घबराना
कायरता है।
जन्म से लेकर,
काशीवास तक,
इम्तिहानों का
दौर चलता है।
बचपन से लेकर
यौवनावस्था तक
विद्यालय का इम्तिहान,
रोजगार के लिए इम्तिहान,
पद-प्रतिष्ठा के लिए इम्तिहान
पाणिग्रहण के लिए इम्तिहान,
फिर बच्चों के लिए इम्तिहान।
इम्तिहान,
इम्तिहान,
इम्तिहान,
कितने इम्तिहानों से
गुजरता है इंसान।
इम्तिहान सिखाते हैं,
दृढ़ संकल्पी बनाते हैं।
इम्तिहान दीजिए,
सफलता के गुर
लीजिए।

Language: Hindi
43 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दूसरों की राहों पर चलकर आप
दूसरों की राहों पर चलकर आप
Anil Mishra Prahari
"मदद"
*Author प्रणय प्रभात*
लज्जा
लज्जा
Shekhar Chandra Mitra
मालिक मेरे करना सहारा ।
मालिक मेरे करना सहारा ।
Buddha Prakash
प्यार हुआ कैसे और क्यूं
प्यार हुआ कैसे और क्यूं
Parvat Singh Rajput
इन आँखों में इतनी सी नमी रह गई।
इन आँखों में इतनी सी नमी रह गई।
लक्ष्मी सिंह
तीजनबाई
तीजनबाई
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"साहित्यकार और पत्रकार दोनों समाज का आइना होते है हर परिस्थि
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
बाल कविता: नदी
बाल कविता: नदी
Rajesh Kumar Arjun
हद
हद
Ajay Mishra
"हँसी"
Dr. Kishan tandon kranti
Bhagwan sabki sunte hai...
Bhagwan sabki sunte hai...
Vandana maurya
अपनी इबादत पर गुरूर मत करना.......
अपनी इबादत पर गुरूर मत करना.......
shabina. Naaz
बात पुरानी याद आई
बात पुरानी याद आई
नूरफातिमा खातून नूरी
ये कैसे आदमी है
ये कैसे आदमी है
gurudeenverma198
पैमाना सत्य का होता है यारों
पैमाना सत्य का होता है यारों
प्रेमदास वसु सुरेखा
राष्ट्रभाषा
राष्ट्रभाषा
Prakash Chandra
चांद ने सितारों से कहा,
चांद ने सितारों से कहा,
Radha jha
चॉकलेट
चॉकलेट
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
कुछ रातों के घने अँधेरे, सुबह से कहाँ मिल पाते हैं।
कुछ रातों के घने अँधेरे, सुबह से कहाँ मिल पाते हैं।
Manisha Manjari
2707.*पूर्णिका*
2707.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
* शक्ति आराधना *
* शक्ति आराधना *
surenderpal vaidya
How to keep a relationship:
How to keep a relationship:
पूर्वार्थ
*मुदित युगल सरकार खेलते, फूलों की होली (हिंदी गजल/ गीतिका)*
*मुदित युगल सरकार खेलते, फूलों की होली (हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
जब अपने ही कदम उलझने लगे अपने पैरो में
जब अपने ही कदम उलझने लगे अपने पैरो में
'अशांत' शेखर
संभव भी असम्भव
संभव भी असम्भव
Dr fauzia Naseem shad
आंखों में तिरी जाना...
आंखों में तिरी जाना...
अरशद रसूल बदायूंनी
डर एवं डगर
डर एवं डगर
Astuti Kumari
भाव में,भाषा में थोड़ा सा चयन कर लें
भाव में,भाषा में थोड़ा सा चयन कर लें
Shweta Soni
आप सभी को महाशिवरात्रि की बहुत-बहुत हार्दिक बधाई..
आप सभी को महाशिवरात्रि की बहुत-बहुत हार्दिक बधाई..
आर.एस. 'प्रीतम'
Loading...