Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Feb 2023 · 1 min read

🌺प्रेम कौतुक-195🌺

इक तसव्वुर मुक़र्रर कर दो,इश्क़ के एतिबार के साथ।।
हर लम्हा तुम सा लगे,मुलाक़ात के इन्तजार के साथ।।

मुक़र्रर-स्थिर

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
82 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
चांदनी रात
चांदनी रात
Mahender Singh Hans
दशावतार
दशावतार
Shashi kala vyas
भूख
भूख
RAKESH RAKESH
ग़ज़ल -
ग़ज़ल -
Mahendra Narayan
हवाएँ
हवाएँ
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
शुभह उठता रात में सोता था, कम कमाता चेन से रहता था
शुभह उठता रात में सोता था, कम कमाता चेन से रहता था
Anil chobisa
नैनों में प्रिय तुम बसे....
नैनों में प्रिय तुम बसे....
डॉ.सीमा अग्रवाल
*अमर रहे गणतंत्र हमारा, मॉं सरस्वती वर दो (देश भक्ति गीत/ सरस्वती वंदना)*
*अमर रहे गणतंत्र हमारा, मॉं सरस्वती वर दो (देश भक्ति गीत/ सरस्वती वंदना)*
Ravi Prakash
बँटवारे का दर्द
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
यूँ ही ऐसा ही बने रहो, बिन कहे सब कुछ कहते रहो…
यूँ ही ऐसा ही बने रहो, बिन कहे सब कुछ कहते रहो…
Anand Kumar
2281.पूर्णिका
2281.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
गुरु
गुरु
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
हाँ, कल तक तू मेरा सपना थी
हाँ, कल तक तू मेरा सपना थी
gurudeenverma198
मेरी धड़कन मेरे गीत
मेरी धड़कन मेरे गीत
Prakash Chandra
“ कितने तुम अब बौने बनोगे ?”
“ कितने तुम अब बौने बनोगे ?”
DrLakshman Jha Parimal
करम
करम
Fuzail Sardhanvi
श्री राम राज्याभिषेक
श्री राम राज्याभिषेक
नवीन जोशी 'नवल'
जाते जाते मुझे वो उदासी दे गया
जाते जाते मुझे वो उदासी दे गया
Ram Krishan Rastogi
हम स्वान नहीं इंसान हैं!
हम स्वान नहीं इंसान हैं!
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
ऐसी बरसात भी होती है
ऐसी बरसात भी होती है
Surinder blackpen
प्रकृति सुनाये चीखकर, विपदाओं के गीत
प्रकृति सुनाये चीखकर, विपदाओं के गीत
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
खुले लोकतंत्र में पशु तंत्र ही सबसे बड़ा हथियार है
खुले लोकतंत्र में पशु तंत्र ही सबसे बड़ा हथियार है
प्रेमदास वसु सुरेखा
अच्छा अख़लाक़
अच्छा अख़लाक़
Dr fauzia Naseem shad
थपकियाँ दे मुझे जागती वह रही ।
थपकियाँ दे मुझे जागती वह रही ।
Arvind trivedi
बेटी की बिदाई
बेटी की बिदाई
Naresh Sagar
गौमाता की व्यथा
गौमाता की व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
In the end
In the end
Vandana maurya
प्राणवल्लभा
प्राणवल्लभा
अभिषेक पाण्डेय ‘अभि ’
💐प्रेम कौतुक-293💐
💐प्रेम कौतुक-293💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हस्ती
हस्ती
kumar Deepak "Mani"
Loading...