Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Jul 2022 · 1 min read

इक ख्वाहिश है।

इक ख्वाहिश है तेरे दरपे दम निकले।
ताकि जिन्दगी भर तू हमको ना भूले।।

✍️✍️ ताज मोहम्मद ✍️✍️

Language: Hindi
Tag: शेर
2 Likes · 2 Comments · 162 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जीवन में कोई भी फैसला लें
जीवन में कोई भी फैसला लें
Dr fauzia Naseem shad
☀️ओज़☀️
☀️ओज़☀️
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
मैं और मेरी फितरत
मैं और मेरी फितरत
लक्ष्मी सिंह
संसार का स्वरूप
संसार का स्वरूप
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
*चुनाव से पहले नेता जी बातों में तार गए*
*चुनाव से पहले नेता जी बातों में तार गए*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
कृषक
कृषक
साहिल
बमुश्किल से मुश्किल तक पहुँची
बमुश्किल से मुश्किल तक पहुँची
सिद्धार्थ गोरखपुरी
रचनात्मकता ; भविष्य की जरुरत
रचनात्मकता ; भविष्य की जरुरत
कवि अनिल कुमार पँचोली
सन्तानों  ने  दर्द   के , लगा   दिए    पैबंद ।
सन्तानों ने दर्द के , लगा दिए पैबंद ।
sushil sarna
यादों की सौगात
यादों की सौगात
RAKESH RAKESH
खिलेंगे फूल राहों में
खिलेंगे फूल राहों में
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
एहसास
एहसास
Er.Navaneet R Shandily
अनंत का आलिंगन
अनंत का आलिंगन
Dr.Pratibha Prakash
सब कुछ हो जब पाने को,
सब कुछ हो जब पाने को,
manjula chauhan
बढ़ता उम्र घटता आयु
बढ़ता उम्र घटता आयु
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
👍👍
👍👍
*Author प्रणय प्रभात*
अपनी कीमत उतनी रखिए जितना अदा की जा सके
अपनी कीमत उतनी रखिए जितना अदा की जा सके
Ranjeet kumar patre
निर्मम क्यों ऐसे ठुकराया....
निर्मम क्यों ऐसे ठुकराया....
डॉ.सीमा अग्रवाल
उड़ रहा खग पंख फैलाए गगन में।
उड़ रहा खग पंख फैलाए गगन में।
surenderpal vaidya
इत्र, चित्र, मित्र और चरित्र
इत्र, चित्र, मित्र और चरित्र
Neelam Sharma
ये छुटपुट कोहरा छिपा नही सकता आफ़ताब को
ये छुटपुट कोहरा छिपा नही सकता आफ़ताब को
'अशांत' शेखर
आँखों से नींदे
आँखों से नींदे
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
ऐसा खेलना होली तुम अपनों के संग ,
ऐसा खेलना होली तुम अपनों के संग ,
कवि दीपक बवेजा
जुगनू
जुगनू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
आपातकाल
आपातकाल
Shekhar Chandra Mitra
वो भी तो ऐसे ही है
वो भी तो ऐसे ही है
gurudeenverma198
2452.पूर्णिका
2452.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
आज की बेटियां
आज की बेटियां
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
इश्क़—ए—काशी
इश्क़—ए—काशी
Astuti Kumari
"चापलूसी"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...