Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 2, 2019 · 1 min read

आज़ाद गज़ल

बड़ी खामोशी से

सपने टूटते हैं बड़ी खामोशी से
अपने लूटते हैं बड़ी खामोशी से ।
ज़र,जोरू या जमीन की खातीर
रिश्ते छूटते हैं बड़ी खामोशी से ।
कुदरत का कहर, वक्त की मार
हालात कूटते हैं बड़ी खामोशी से ।
करते जिनसे उम्मीद हैं मनाने की
वोही रूठते हैं बड़ी खामोशी से ।
हैसीयत बदलते ही हाथों से हाथ
अक़्सर छूटते हैं बड़ी खामोशी से ।
-अजय प्रसाद
AJAY PRASAD TGT ENGLISH DAV PS PGC BIHARSHARIF NALANDA BIHAR 9006233052.

142 Views
You may also like:
बुद्ध या बुद्धू
Priya Maithil
गुनाह ए इश्क।
Taj Mohammad
शम्बूक हत्या! सत्य या मिथ्या?
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
तेरी रहबरी जहां में अच्छी लगे।
Taj Mohammad
✍️नशा और शौक✍️
'अशांत' शेखर
जवाब दो
shabina. Naaz
पीयूष छंद-पिताजी का योगदान
asha0963
*सारथी बनकर केशव आओ (भक्ति-गीत)*
Ravi Prakash
नाम
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
अम्मा/मम्मा
Manu Vashistha
आ ख़्वाब बन के आजा
Dr fauzia Naseem shad
चश्मे-तर जिन्दगी
Dr. Sunita Singh
दृश्य प्रकृति के
श्री रमण 'श्रीपद्'
महिलाओं वाली खुशी "
Dr Meenu Poonia
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
खुश रहे आप आबाद हो
gurudeenverma198
जय जय इंडियन आर्मी
gurudeenverma198
आदर्श पिता
Sahil
छोड़ दो बांटना
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गुरु-पूर्णिमा पर...!!
Kanchan Khanna
रुक जा रे पवन रुक जा ।
Buddha Prakash
* आडे तिरछे अनुप्राण *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मां तेरे आंचल को।
Taj Mohammad
पुस्तक समीक्षा -एक थी महुआ
Rashmi Sanjay
ऐ बादल अब तो बरस जाओ ना
नूरफातिमा खातून नूरी
उसका नाम लिखकर।
Taj Mohammad
✍️बेसब्र मिज़ाज✍️
'अशांत' शेखर
बख्स मुझको रहमत वो अंदाज़ मिल जाए
VINOD KUMAR CHAUHAN
नागफनी बो रहे लोग
शेख़ जाफ़र खान
✍️ज़िंदगी का उसूल ✍️
Vaishnavi Gupta
Loading...