Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Feb 2024 · 1 min read

आप वो नहीं है जो आप खुद को समझते है बल्कि आप वही जो दुनिया आ

आप वो नहीं है जो आप खुद को समझते है बल्कि आप वही जो दुनिया आपको समझती है एक बार लोगो का जनसमूह आपको जिस रूप में ले लेता है फिर उसे बदल पाना बेहद मुश्किल होता है।
RJ Anand Prajapati

122 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
चांद पे हमको
चांद पे हमको
Dr fauzia Naseem shad
हे ! गणपति महाराज
हे ! गणपति महाराज
Ram Krishan Rastogi
জীবন নামক প্রশ্নের বই পড়ে সকল পাতার উত্তর পেয়েছি, কেবল তোমা
জীবন নামক প্রশ্নের বই পড়ে সকল পাতার উত্তর পেয়েছি, কেবল তোমা
Sakhawat Jisan
नुकसान हो या मुनाफा हो
नुकसान हो या मुनाफा हो
Manoj Mahato
कौन यहाँ पर पीर है,
कौन यहाँ पर पीर है,
sushil sarna
"माटी-तिहार"
Dr. Kishan tandon kranti
मैं कौन हूँ कैसा हूँ तहकीकात ना कर
मैं कौन हूँ कैसा हूँ तहकीकात ना कर
VINOD CHAUHAN
■ क्यों ना उठे सवाल...?
■ क्यों ना उठे सवाल...?
*प्रणय प्रभात*
चमकते तारों में हमने आपको,
चमकते तारों में हमने आपको,
Ashu Sharma
विगुल क्रांति का फूँककर, टूटे बनकर गाज़ ।
विगुल क्रांति का फूँककर, टूटे बनकर गाज़ ।
जगदीश शर्मा सहज
मांगने से रोशनी मिलेगी ना कभी
मांगने से रोशनी मिलेगी ना कभी
Slok maurya "umang"
शमा से...!!!
शमा से...!!!
Kanchan Khanna
23/81.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/81.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
साक्षर महिला
साक्षर महिला
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Beginning of the end
Beginning of the end
Bidyadhar Mantry
बीते साल को भूल जाए
बीते साल को भूल जाए
Ranjeet kumar patre
वो एक ही मुलाकात और साथ गुजारे कुछ लम्हें।
वो एक ही मुलाकात और साथ गुजारे कुछ लम्हें।
शिव प्रताप लोधी
पुण्य स्मरण: 18 जून2008 को मुरादाबाद में आयोजित पारिवारिक सम
पुण्य स्मरण: 18 जून2008 को मुरादाबाद में आयोजित पारिवारिक सम
Ravi Prakash
वो एक संगीत प्रेमी बन गया,
वो एक संगीत प्रेमी बन गया,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
खुशी पाने की जद्दोजहद
खुशी पाने की जद्दोजहद
डॉ० रोहित कौशिक
हज़ारों चाहने वाले निभाए एक मिल जाए
हज़ारों चाहने वाले निभाए एक मिल जाए
आर.एस. 'प्रीतम'
किसी नदी के मुहाने पर
किसी नदी के मुहाने पर
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
हर किसी का कर्ज़ चुकता हो गया
हर किसी का कर्ज़ चुकता हो गया
Shweta Soni
हर कदम बिखरे थे हजारों रंग,
हर कदम बिखरे थे हजारों रंग,
Kanchan Alok Malu
🚩🚩 कृतिकार का परिचय/
🚩🚩 कृतिकार का परिचय/ "पं बृजेश कुमार नायक" का परिचय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
All good
All good
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सास खोल देहली फाइल
सास खोल देहली फाइल
नूरफातिमा खातून नूरी
ভালো উপদেশ
ভালো উপদেশ
Arghyadeep Chakraborty
तुझे जब फुर्सत मिले तब ही याद करों
तुझे जब फुर्सत मिले तब ही याद करों
Keshav kishor Kumar
रफ्ता रफ्ता हमने जीने की तलब हासिल की
रफ्ता रफ्ता हमने जीने की तलब हासिल की
कवि दीपक बवेजा
Loading...