Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Oct 2023 · 1 min read

आपस की गलतफहमियों को काटते चलो।

आपस की गलतफहमियों को काटते चलो।
नफरत में भी मिल जाय प्रीत छाँटेते चलो।।
फिरकापरस्त लोग सियासत भी करेंगे।
लोगों के बीच खुल के प्यार बाँटते चलो।।
“कश्यप”

4 Likes · 146 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सिर्फ व्यवहारिक तौर पर निभाये गए
सिर्फ व्यवहारिक तौर पर निभाये गए
Ragini Kumari
मूर्ती माँ तू ममता की
मूर्ती माँ तू ममता की
Basant Bhagawan Roy
🌸🌼जाने कितने सावन बीत गए हैं🌼🌸
🌸🌼जाने कितने सावन बीत गए हैं🌼🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हम दो अंजाने
हम दो अंजाने
Kavita Chouhan
प्रेम🕊️
प्रेम🕊️
Vivek Mishra
मेरे प्यारे भैया
मेरे प्यारे भैया
Samar babu
मनवा नाचन लागे
मनवा नाचन लागे
मनोज कर्ण
गीत... (आ गया जो भी यहाँ )
गीत... (आ गया जो भी यहाँ )
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
*बूढ़े तन के धरती से ,चलने की तैयारी है【हिंदी गजल/गीतिका*
*बूढ़े तन के धरती से ,चलने की तैयारी है【हिंदी गजल/गीतिका*
Ravi Prakash
"Awakening by the Seashore"
Manisha Manjari
गजब है उनकी सादगी
गजब है उनकी सादगी
sushil sarna
छह दिसबंर / मुसाफ़िर बैठा
छह दिसबंर / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
आ जाये मधुमास प्रिय
आ जाये मधुमास प्रिय
Satish Srijan
भीख
भीख
Mukesh Kumar Sonkar
कौन सोचता है
कौन सोचता है
Surinder blackpen
सुरभित पवन फिज़ा को मादक बना रही है।
सुरभित पवन फिज़ा को मादक बना रही है।
सत्य कुमार प्रेमी
■ आज का मुक्तक
■ आज का मुक्तक
*Author प्रणय प्रभात*
शेर
शेर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
राष्ट्रीय एकता दिवस
राष्ट्रीय एकता दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*नियति*
*नियति*
Harminder Kaur
2971.*पूर्णिका*
2971.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ऐसा नहीं है कि मैं तुम को भूल जाती हूँ
ऐसा नहीं है कि मैं तुम को भूल जाती हूँ
Faza Saaz
हम भी तो चाहते हैं, तुम्हें देखना खुश
हम भी तो चाहते हैं, तुम्हें देखना खुश
gurudeenverma198
ईसा को सूली
ईसा को सूली
Shekhar Chandra Mitra
अरे मुंतशिर ! तेरा वजूद तो है ,
अरे मुंतशिर ! तेरा वजूद तो है ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
नज़र बूरी नही, नजरअंदाज थी
नज़र बूरी नही, नजरअंदाज थी
संजय कुमार संजू
*
*"हिंदी"*
Shashi kala vyas
अलविदा
अलविदा
ruby kumari
बच्चे को उपहार ना दिया जाए,
बच्चे को उपहार ना दिया जाए,
Shubham Pandey (S P)
*** सैर आसमान की....! ***
*** सैर आसमान की....! ***
VEDANTA PATEL
Loading...