Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Dec 2023 · 1 min read

आपकी आहुति और देशहित

जाति के जनप्रतिनिधियों को
ये सोचना चाहिए, वे जाति की वजह से नहीं, सर्व धर्म संभाव
की वजह से वहां हैं .।।
वे भले कौम के ठेकेदार बन जायें,
वे कौम को और अधिक दलदल में,
धकेलने का काम कर रहें हैं .।।
मिमिक्री के प्रसंग पर,
खुद को सुरक्षित करने के लिए,
जाट जाति का रंग देने की कोशिश की है,
दूसरी तरफ :- सुश्री मायावती ने,
उपराष्ट्रपति और जगदीप धनखड़ के रवैये
को देखकर नहीं,
राष्ट्रपति और सत्ता पक्ष की हां में हां,,
कौम के हित की राजनीति नहीं है .।।
.
उन्होंने कौम को मद्देनजर रखकर न तो,,,
आय से अधिक संपत्ति, और न ही, अपने कार्यकाल में अनियमितता बरतने के लिए
बहुजन हिताय 🇮🇳 बहुजन सुखाय की पैरवी की थी,,
संविधान की सुरक्षा और बहुजन समाज के हितों की रक्षा के लिए, पार्टी का आगाज़
मान्यवर कांशीराम जी ने किया था,
पार्टी अपनी नीतियों से भटक चुकी है ।.।।
.
मायावती चाहती है :- सत्तारूढ़ गठबंधन कायम रहे .।।।
देश के बहुतायत जन चाहते है,, सरकार बदले,,
भाई लोगों निर्णय और निर्माण
आपके हाथ की कला है,,
आज वर्तमान हालात में आ रहा है,
वोट :- एकविशेषाधिकार
एक नागरिक के वोट को भी संदेह में डाल दिया गया है,,,
.
आज सत्ता दल, अपने सहयोगी घटक दल,
और जनप्रतिनिधियों को सीधे साधने में लगी हुई है :- बढ़ती महंगाई, महंगी शिक्षा, चिकित्सा, बेरोजगारी अपने चर्म पर है,,
इस स्थिति से बाहर निकलने का मार्ग अवश्य खोज लें

~ सब भाईयां नै राम राम ~

Language: Hindi
133 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Mahender Singh
View all
You may also like:
"छलनी"
Dr. Kishan tandon kranti
ऋतुराज
ऋतुराज
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
सुबह आंख लग गई
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
सारे नेता कर रहे, आपस में हैं जंग
सारे नेता कर रहे, आपस में हैं जंग
Dr Archana Gupta
एक नयी शुरुआत !!
एक नयी शुरुआत !!
Rachana
सफलता
सफलता
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बारिश का मौसम
बारिश का मौसम
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
*ईर्ष्या भरम *
*ईर्ष्या भरम *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हम्मीर देव चौहान
हम्मीर देव चौहान
Ajay Shekhavat
*लब मय से भरे मदहोश है*
*लब मय से भरे मदहोश है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
👌बोगस न्यूज़👌
👌बोगस न्यूज़👌
*Author प्रणय प्रभात*
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
*
*"ओ पथिक"*
Shashi kala vyas
हासिल नहीं था
हासिल नहीं था
Dr fauzia Naseem shad
राम नाम
राम नाम
पंकज प्रियम
वज़्न - 2122 1212 22/112 अर्कान - फ़ाइलातुन मुफ़ाइलुन फ़ैलुन/फ़इलुन बह्र - बहर-ए-ख़फ़ीफ़ मख़बून महज़ूफ मक़तूअ काफ़िया: ओं स्वर रदीफ़ - में
वज़्न - 2122 1212 22/112 अर्कान - फ़ाइलातुन मुफ़ाइलुन फ़ैलुन/फ़इलुन बह्र - बहर-ए-ख़फ़ीफ़ मख़बून महज़ूफ मक़तूअ काफ़िया: ओं स्वर रदीफ़ - में
Neelam Sharma
दोस्त मेरे यार तेरी दोस्ती का आभार
दोस्त मेरे यार तेरी दोस्ती का आभार
Anil chobisa
मेल
मेल
Lalit Singh thakur
यह दुनिया है जनाब
यह दुनिया है जनाब
Naushaba Suriya
विद्यार्थी के मन की थकान
विद्यार्थी के मन की थकान
पूर्वार्थ
कितने बड़े हैवान हो तुम
कितने बड़े हैवान हो तुम
मानक लाल मनु
मोतियाबिंद
मोतियाबिंद
Surinder blackpen
- अपनो का स्वार्थीपन -
- अपनो का स्वार्थीपन -
bharat gehlot
SCHOOL..
SCHOOL..
Shubham Pandey (S P)
Y
Y
Rituraj shivem verma
एक ही भूल
एक ही भूल
Mukesh Kumar Sonkar
मैं खंडहर हो गया पर तुम ना मेरी याद से निकले
मैं खंडहर हो गया पर तुम ना मेरी याद से निकले
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
सोई गहरी नींदों में
सोई गहरी नींदों में
Anju ( Ojhal )
समुद्र इसलिए खारा क्योंकि वो हमेशा लहराता रहता है यदि वह शां
समुद्र इसलिए खारा क्योंकि वो हमेशा लहराता रहता है यदि वह शां
Rj Anand Prajapati
जब आप ही सुनते नहीं तो कौन सुनेगा आपको
जब आप ही सुनते नहीं तो कौन सुनेगा आपको
DrLakshman Jha Parimal
Loading...