Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Sep 2023 · 1 min read

आदत न डाल

आदत न डाल ऐसी कि रोना पड़े तुझे ।
महसूस खुद को कर कि ज़रूरत है वक़्त की ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
8 Likes · 185 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
कभी उसकी कदर करके देखो,
कभी उसकी कदर करके देखो,
पूर्वार्थ
ऐ ज़िंदगी।
ऐ ज़िंदगी।
Taj Mohammad
केवल पंखों से कभी,
केवल पंखों से कभी,
sushil sarna
तूफ़ानों से लड़करके, दो पंक्षी जग में रहते हैं।
तूफ़ानों से लड़करके, दो पंक्षी जग में रहते हैं।
डॉ. अनिल 'अज्ञात'
3205.*पूर्णिका*
3205.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
खामोश रहेंगे अभी तो हम, कुछ नहीं बोलेंगे
खामोश रहेंगे अभी तो हम, कुछ नहीं बोलेंगे
gurudeenverma198
जंग के भरे मैदानों में शमशीर बदलती देखी हैं
जंग के भरे मैदानों में शमशीर बदलती देखी हैं
Ajad Mandori
*गर्मी देती नहीं दिखाई【बाल कविता-गीतिका】*
*गर्मी देती नहीं दिखाई【बाल कविता-गीतिका】*
Ravi Prakash
"परोपकार के काज"
Dr. Kishan tandon kranti
#अनंत_की_यात्रा_पर
#अनंत_की_यात्रा_पर
*Author प्रणय प्रभात*
बहुत वो साफ सुधरी ड्रेस में स्कूल आती थी।
बहुत वो साफ सुधरी ड्रेस में स्कूल आती थी।
विजय कुमार नामदेव
सुनो कभी किसी का दिल ना दुखाना
सुनो कभी किसी का दिल ना दुखाना
shabina. Naaz
माँ की आँखों में पिता / मुसाफ़िर बैठा
माँ की आँखों में पिता / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
हरे! उन्मादिनी कोई हृदय में तान भर देना।
हरे! उन्मादिनी कोई हृदय में तान भर देना।
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
ये न पूछ के क़ीमत कितनी है
ये न पूछ के क़ीमत कितनी है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
' पंकज उधास '
' पंकज उधास '
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
"दीपावाली का फटाका"
Radhakishan R. Mundhra
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
सरस्वती वंदना । हे मैया ,शारदे माँ
सरस्वती वंदना । हे मैया ,शारदे माँ
Kuldeep mishra (KD)
कुछ लोगों का प्यार जिस्म की जरुरत से कहीं ऊपर होता है...!!
कुछ लोगों का प्यार जिस्म की जरुरत से कहीं ऊपर होता है...!!
Ravi Betulwala
"समय का महत्व"
Yogendra Chaturwedi
चलता ही रहा
चलता ही रहा
हिमांशु Kulshrestha
नई जगह ढूँढ लो
नई जगह ढूँढ लो
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
कृषक
कृषक
साहिल
✍️फिर वही आ गये...
✍️फिर वही आ गये...
'अशांत' शेखर
चांद पे हमको
चांद पे हमको
Dr fauzia Naseem shad
कुछ लोग ऐसे भी मिले जिंदगी में
कुछ लोग ऐसे भी मिले जिंदगी में
शेखर सिंह
ईद मुबारक
ईद मुबारक
Satish Srijan
मैंने तो बस उसे याद किया,
मैंने तो बस उसे याद किया,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
रिश्तों का सच
रिश्तों का सच
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
Loading...