Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 May 2024 · 1 min read

आज के ज़माने में असली हमदर्द वो, जो A का हाल A के बजाए B और C

आज के ज़माने में असली हमदर्द वो, जो A का हाल A के बजाए B और C से पूछे।
◆प्रणय प्रभात◆

1 Like · 38 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"युद्ध नहीं जिनके जीवन में, वो भी बड़े अभागे होंगे या तो प्र
Urmil Suman(श्री)
थोड़ा दिन और रुका जाता.......
थोड़ा दिन और रुका जाता.......
Keshav kishor Kumar
विडंबना
विडंबना
Shyam Sundar Subramanian
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
बस जिंदगी है गुज़र रही है
बस जिंदगी है गुज़र रही है
Manoj Mahato
*पुस्तक*
*पुस्तक*
Dr. Priya Gupta
आजा आजा रे कारी बदरिया
आजा आजा रे कारी बदरिया
Indu Singh
।। श्री सत्यनारायण ब़त कथा महात्तम।।
।। श्री सत्यनारायण ब़त कथा महात्तम।।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
किताबें पूछती है
किताबें पूछती है
Surinder blackpen
न जाने क्यों ... ... ???
न जाने क्यों ... ... ???
Kanchan Khanna
"मन" भर मन पर बोझ
Atul "Krishn"
Be happy with the little that you have, there are people wit
Be happy with the little that you have, there are people wit
पूर्वार्थ
अरमान
अरमान
अखिलेश 'अखिल'
आसान कहां होती है
आसान कहां होती है
Dr fauzia Naseem shad
*मारीच (कुंडलिया)*
*मारीच (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
* माई गंगा *
* माई गंगा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जल
जल
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
2801. *पूर्णिका*
2801. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
!! वीणा के तार !!
!! वीणा के तार !!
Chunnu Lal Gupta
लाभ की इच्छा से ही लोभ का जन्म होता है।
लाभ की इच्छा से ही लोभ का जन्म होता है।
Rj Anand Prajapati
#क्षणिका-
#क्षणिका-
*प्रणय प्रभात*
आज अचानक आये थे
आज अचानक आये थे
Jitendra kumar
"चलना"
Dr. Kishan tandon kranti
छंद
छंद
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
पर्यावरण
पर्यावरण
Dinesh Kumar Gangwar
ସଦାଚାର
ସଦାଚାର
Bidyadhar Mantry
यूं तेरी आदत सी हो गई है अब मुझे,
यूं तेरी आदत सी हो गई है अब मुझे,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
आज के बच्चों की बदलती दुनिया
आज के बच्चों की बदलती दुनिया
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
चंद्रयान 3
चंद्रयान 3
बिमल तिवारी “आत्मबोध”
बाबू जी की याद बहुत ही आती है
बाबू जी की याद बहुत ही आती है
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
Loading...