Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Oct 2016 · 1 min read

आज करना चाँद मत कोई बहाना

करवाचौथ की सभी बहनों को हार्दिक बधाई

आज करना चाँद मत कोई बहाना
राह देखेगा तेरी सारा ज़माना
जब दिखेंगे छलनी में ही चाँद दो दो
वो समां होगा सुनो कितना सुहाना
डॉ अर्चना गुप्ता

Language: Hindi
1 Like · 6 Comments · 499 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
■ जय लोकतंत्र■
■ जय लोकतंत्र■
*Author प्रणय प्रभात*
ਸਾਥੋਂ ਇਬਾਦਤ ਕਰ ਨਹੀਂ ਹੁੰਦੀ
ਸਾਥੋਂ ਇਬਾਦਤ ਕਰ ਨਹੀਂ ਹੁੰਦੀ
Surinder blackpen
पिया मिलन की आस
पिया मिलन की आस
Dr. Girish Chandra Agarwal
तुम
तुम
Punam Pande
Friendship Day
Friendship Day
Tushar Jagawat
सम्बन्ध
सम्बन्ध
Shaily
Maine Dekha Hai Apne Bachpan Ko!
Maine Dekha Hai Apne Bachpan Ko!
Srishty Bansal
बिहार का जालियांवाला बाग - तारापुर
बिहार का जालियांवाला बाग - तारापुर
विक्रम कुमार
बिडम्बना
बिडम्बना
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
ऐसे ना मुझे  छोड़ना
ऐसे ना मुझे छोड़ना
Umender kumar
*शातिर चोर (हास्य कुंडलिया)*
*शातिर चोर (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
है सियासत का असर या है जमाने का चलन।
है सियासत का असर या है जमाने का चलन।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
बदला सा व्यवहार
बदला सा व्यवहार
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
Gulab ke hasin khab bunne wali
Gulab ke hasin khab bunne wali
Sakshi Tripathi
4. गुलिस्तान
4. गुलिस्तान
Rajeev Dutta
डिप्रेशन में आकर अपने जीवन में हार मानने वाले को एक बार इस प
डिप्रेशन में आकर अपने जीवन में हार मानने वाले को एक बार इस प
पूर्वार्थ
गजल
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मुझे महसूस हो जाते
मुझे महसूस हो जाते
Dr fauzia Naseem shad
*वरद हस्त सिर पर धरो*..सरस्वती वंदना
*वरद हस्त सिर पर धरो*..सरस्वती वंदना
Poonam Matia
गौमाता की व्यथा
गौमाता की व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
तू इतनी खूबसूरत है...
तू इतनी खूबसूरत है...
आकाश महेशपुरी
शाहजहां के ताजमहल के मजदूर।
शाहजहां के ताजमहल के मजदूर।
Rj Anand Prajapati
ॐ
Prakash Chandra
💐प्रेम कौतुक-259💐
💐प्रेम कौतुक-259💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ये जुल्म नहीं तू सहनकर
ये जुल्म नहीं तू सहनकर
gurudeenverma198
जीवन में समय होता हैं
जीवन में समय होता हैं
Neeraj Agarwal
यह जनता है ,सब जानती है
यह जनता है ,सब जानती है
Bodhisatva kastooriya
"वक्त-वक्त की बात"
Dr. Kishan tandon kranti
कथनी और करनी में अंतर
कथनी और करनी में अंतर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
फर्ज़ अदायगी (मार्मिक कहानी)
फर्ज़ अदायगी (मार्मिक कहानी)
Dr. Kishan Karigar
Loading...